Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / मिसेज यूनिवर्स डाक्टर ज्योति का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत

मिसेज यूनिवर्स डाक्टर ज्योति का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत

कोलम्बिया में डाक्टर ज्योति ने जीता मिसेज यूनिवर्स का खिताब

डोईवाला/ब्यूरो। साउथ अमेरिका कोलम्बिया के बरंक्यूला शहर से मिसेज यूनिवर्स का खिताब लेकर लौटी डाक्टर ज्योति द्विवेदी का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया गया।

डां0 ज्योति इंडिगो की फ्लाइट से सुबह 7:30 बजे एयरपोर्ट पहुंची। एयरपोर्ट पर उनका पुष्पगुच्छ देकर जोरदार स्वागत किया गया। डां0 ज्योति ने 25 मई को बरंक्यूला में आयोजित मिसेज यूनिवर्स प्रतियोगिता में 30 देशों की प्रतिभागियों को पछाड़कर कड़े मुकाबले में खिताब पर कब्जा किया है। सात समंदर पार जब उन्होंने अपने स्वागत भाषण में भारत की प्राचीन संस्कृति, सभ्यता, सनातन परंपराओं, गंगा नदी आदि पर अपने विचार रखे तो वहां मौजूद सभी लोग प्रभावित हुए। डां0 ज्योति ने विश्व की ज्वलंत समस्याओं स्त्री, शिशु और पशुओं पर हो रहे अत्याचार, ग्लोबल वार्मिंग, प्लास्टिक प्रदूषण का मुद्दा पुरजोर तरीके से उठाकर निर्णायक मंडल का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया।

निर्णायक मंडल ने जब उनसे पूछा कि पाश्चात्य भौतिकवादी सुंदरियों पर भारत की एक साधारण महिला कैसे भारी पड़ सकती है। तो उनका जवाब था कि योग, आध्यात्म, शास्त्रीय संगीत और संघर्ष भारतीय महिलाओं को पूरे विश्व में अलग पहचान दिलवाता है। स्वामी राम हिमालयन यूनिवर्सिटी में पिछले 22 वर्षो से सीनियर प्रोफेसर के पद पर कार्यरत डां0 ज्योति संस्थान की सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा शिक्षक हैं। कथक नृत्य, योग, हिंदी और अंग्रेजी के खास शब्दों पर उनकी गहरी पकड़ है। योग पर रिसर्च और उत्तराखंड के सुदूर पहाड़ों में रोगियों की सेवा करना उनका असल उद्देश्य है। एयरपोर्ट पर स्वागत करने वालों में संजय प्रजापति, हरिओम गुप्ता, बालमसिंह, सुभाष कृषाली, योगेंद्र सिंह राणा, सुरेंद्र वर्मा, संजय चमोली, विकास, अजय चौहान आदि उपस्थित रहे।

विख्यात प्लास्टिक सर्जन की पत्नी हैं डां0 ज्योति

डोईवाला। डां0 ज्योति हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट के विख्यात प्लास्टिक सर्जन डां0 संजय द्विवेदी की पत्नी हैं। बहुमुखी प्रतिभा के धनी डां0 संजय  ने देश-विदेश में सर्जरी, शोध और चिकित्सा के आधुनिक तरीकों में एक नया मकाम हासिल किया है। उन्हे ग्लोबल अवार्ड भी मिल चुका है। अपनी पत्नी की इस नई कामयाबी पर उन्होंने खुशी व्यक्त की है। दोनों पति-पत्नी जीवन में आगे बढने की लिए कड़ी मेहनत और संस्कारों को महत्व देते हैं।

 

About madan lakhera

Check Also

एनएसयूआई ने परिवहन विभाग का पुतला फूंका

डोईवाला/ब्यूरो। नाराज एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने कॉलेज गेट के सामने बसें न रूकने को लेकर परिवहन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *