Home / Breaking News / मुन्ना बजरंगी की हत्या : जेलर-डिप्टी जेलर निलंबित, 10 बड़े अपडेट
माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी

मुन्ना बजरंगी की हत्या : जेलर-डिप्टी जेलर निलंबित, 10 बड़े अपडेट

लखनऊ (एजेंसी)। पूर्वांचल के कुख्यात माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की सोमवार को बागपत जेल में हत्या कर दी गई। मुन्ना बजरंगी की पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में पेशी होनी थी। इससे पहले ही उसे जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

 

जानिए, इस घटनाक्रम के 10 बड़े अपडेट
1- मुन्ना बजरंगी की सोमवार सुबह साढ़े छह बजे बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

2- मुन्ना बजरंगी को रविवार रात को ही झांसी से बागपत की जेल में लाया गया था। बागपत के कोर्ट में आज ही मुन्ना बजरंगी की पेशी होनी थी।

3- कोर्ट में पेशी से पहले ही बजरंगी को जेल में 10 गोलियां मार दी गईं। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

4- घटना के बाद बागपत के जेलर, डिप्टी जेलर, जेल वॉर्डन और दो सुरक्षाकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इस हत्याकांड में उदय प्रताप सिंह (जेलर), शिवाजी यादव (डिप्टी जेलर), अरजिंदर सिंह (हेड वार्डन), माधव कुमार- (वार्डन) की भूमिका पर शक जताया जा रहा है।

5- इस मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि इस मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से भी संपर्क किया जा रहा है।

6- जानकारी के मुताबिक जेल में बंद कुख्यात बदमाश सुनील राठी के शूटर्स ने मुन्ना बजरंगी को गोली मारी। पुलिस इस मामले में सुनील राठी से पूछताछ कर रही है। उसका और मुन्ना बजरंगी का कॉल डिटेल रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। बता दें कि मुन्ना बजरंगी भी झांसी जेल में फोन का इस्तेमाल कर रहा था।

7- जेल में एक अपराधी ने ही मुन्ना बजरंगी को गोली मारी और इसके बाद पिस्टल को गटर में फेंक दिया। पुलिस को बागपत जेल में मोबाइल फोन और सिम कार्ड मिले हैं।

8- घटना के तुरंत बाद एक जांच टीम बागपत जेल में पहुंची, जिसमें डॉग स्क्वायड की टीम भी शामिल थी।

9- मुन्ना पर बड़ौत के पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित और उनके भाई नारायण दीक्षित से 22 सितंबर 2017 को फोन पर रंगदारी मांगने और धमकी देने का आरोप था।

10- मुन्ना बजरंगी के वकील ने कहा है कि उन्होंने कुछ दिनों पहले सीएम योगी आदित्यनाथ से कहा था कि उसकी सुरक्षा को लेकर खतरा है।

About saket aggarwal

Check Also

उत्पीड़न के खिलाफ बिजली कर्मचारियों ने दिया धरना

अधिशासी अभियंता पर ट्रांसफर में मनमानी का आरोप डोईवाला/ब्यूरो। उत्तरांचल बिजली कर्मचारी संघ से जुड़े …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *