Home / Breaking News / किच्छा:नामजद नहीं दूसरे पार्टनर ने कराई थी समीर की हत्या

किच्छा:नामजद नहीं दूसरे पार्टनर ने कराई थी समीर की हत्या

किच्छा। पुलिस ने समीर अहमद हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। हत्याकांड के पीछे संपत्ति हड़पने की नीयत ही थी लेकिन इसमें नामजद पार्टनर नहीं दूसरा पार्टनर व उसका पुत्र शामिल था। हत्या के लिए तीन लाख रुपये की सुपारी दी गई थी। इसके लिए बिलासपुर के युवक के जरिए शाहजहांपुर व बहेड़ी के शूटर हायर किये गये थे।
तीन मई को सुबह करीब साढ़े दस बजे आदित्य चौक पर प्रॉपर्टी डीलर समीर अहमद की हत्या कर दी गई थी। समीर के भाई मोहम्मद खालिद की ओर से इस मामले में ट्रांसपोर्ट नगर प्रॉपर्टी में समीर के पार्टनर पर मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की जांच की तो इस मामले में नामजदों की भूमिका नहीं मिली। जांच में पुलिस को पता चला कि हत्या करने वाले शाहजहांपुर व बहेड़ी के शूटर हैं। मंगलवार को हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसपी सिटी देवेंद्र पींचा ने बताया कि इस मामले की जांच के लिए चार टीमें लगाई गई थीं। इसी के आधार पर पुलिस ने शाहजहांपुर के चंदौखा कोठी मदनापुर निवासी सुखदेव सिंह उर्फ सुक्खा व बहेड़ी के कताई मिल निवासी अंग्रेज सिंह उर्फ रिंकू को पकड़ा। दोनों शूटर हैं। दोनों ने समीर की हत्या करने की बात कबूली। पुलिस ने दोनों के कब्जे से .32 बोर की पिस्टल भी बरामद की। इसी से समीर की हत्या की गई थी। दोनों ने पुलिस को बताया कि बिलासपुर निवासी प्रसनजीत उर्फ सनी व गुरुचरन सिंह के जरिये उन्होंने ओमेक्स कालोनी, रुद्रपुर निवासी जसविंदर सिंह गिल व उसके बेटे रंदीप उर्फ राजा से तीन लाख रुपये में समीर की हत्या का सौदा किया था। पुलिस के अनुसार, समीर ने जसविंदर के साथ करोड़ों की प्रॉपर्टी में पार्टनरशिप कर रखी थी। ये प्रॉपर्टी हड़पने के मकसद से ही जसविंदर व रंदीप ने समीर की हत्या करने की योजना बनाई। हत्या के लिए गुरुचरन ने समीर की रेकी का काम किया था। पुलिस ने बताया कि मुख्य सूत्रधार जसविंदर सिंह गिल को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसका बेटा रंदीप, गुरुचरन व प्रसनजीत फरार हैं।
पुलिस टीम में ये रहे शामिल
पुलिस की चार टीमों ने हत्याकांड का खुलासा किया। पहली टीम में किच्छा एसओ मोहन चंद्र पांडे, सितारगंज इंस्पेक्टर योगेश उपाध्याय, एसएसआई मदन मोहन जोशी, एसआई लक्ष्मण सिंह, सतपाल सिंह, नवीन बुधानी, अशोक फत्र्याल, जूली राणा, जगदीश ढकरियाल, पीडी जोशी, कांस्टेबल राजीव कुमार, इरशाद उल्ला, कुलदीप आर्या, देवराज सिंह, सुरेश सिंह, राजेश गिरी, देवेंद्र कयाल, प्रेम सिंह, संजय धौनी, दीपिका दूसरी टीम में जसपुर इंस्पेक्टर अबुल कलाम, एसआई लाखन सिंह, देवेंद्र गौरव, कांस्टेबल मतलूब खान तीसरी टीम में पुलभट्ट्टïा एसओ विद्यादत्त जोशी, एसआई प्रकाश बवाड़ी, कांस्टेबल बब्बू गोस्वामी, चौथी टीम में एसओजी प्रभारी तुषार बोरा, एसआई पंकज जोशी, कांस्टेबल प्रकाश भगत, बलवंत सिंह, पवन व सुबोध शर्मा शामिल रहे।

About saket aggarwal

Check Also

किच्छा:गोल्ड मेडल जीतकर पहुंचे कराटे चैम्पियनों का स्वागत

किच्छा। ऑल इंडिया एंड इंडो नेपाल इंटरैनेशनल ओपन कराटे चैम्पियनशिप 2018 प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *