Home / Breaking News / कालाढूंगी : नशे के खिलाफ ग्रामीणों ने खोला मोर्चा

कालाढूंगी : नशे के खिलाफ ग्रामीणों ने खोला मोर्चा

कालाढूंगी। कई गावों के पुरुष व महिलाओं ने नशाखोरी के विरुद्ध तहसील पहुंचकर धरना दिया। ग्रामीणों ने 15 दिन पूर्व नशे के विरुद्ध तहसील में प्रदर्शन करते हुए एसडीएम अनिल चन्याल के माध्यम से मुख्यमंत्री सहित पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन भेजकर शराब, चरस, स्मैक आदि नशीली चीजों पर रोक लगाने व नशे का कारोबार करने वालों को पकडऩे की मांग की थी, लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गयी तब जाकर तहसील में धरना दिया गया। अगर अब भी नशे पर रोक नहीं लगी तो ग्रामीणों ने अनिश्चितकालीन धरना देने की चेतावनी दी। सामाजिक कार्यकर्ता जनार्दन जोशी व शिव पार्वती संगठन के नेतृत्व में गांव गुलजारपुर रामसिंह, पूरनपुर व देवीपुरा के दर्जनों लोगों ने नशे व कच्ची शराब के विरुद्ध प्रदर्शन करते हुए तहसील में एक दिवसीय धरना दिया। ग्रामीणों का कहना था कि कुछ बाहरी लोग कच्ची शराब पुडिय़ा लाकर गावों में बेच रहे हैं जिससे गांव का माहौल खराब हो रहा है। साथ ही चरस व स्मैक भी लाकर बेची जा रही है। युवा पीढ़ी इस नशे के कारण बर्बाद हो रही है। ग्रामीणों का कहना था कि कालाढूंगी पुलिस को बताने के बाद भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। नशे के कारण गावों का माहौल खराब हो रहा है युवा पीढ़ी नशे के दलदल में धंस रही है। इस दौरान जनार्दन जोशी, दीपा देवी, मधुली देवी, रमेश चंद्र, पूनम खन्ना, नीमा देवी, जगतार सिंह, कविता, कृष्ण कुमार जोशी, जोगा सिंह, शोभा कन्याल, रेखा कन्याल, मुन्नी देवी, भावना सती, गंगा देवी, गीता बिष्ट, पूनम चौहान, भवानी देवी, मंजू देवी, ज्योति सती, नीमा देवी, आदि दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

About saket aggarwal

Check Also

आईपीएल से पहले कुमाऊं के क्रिकेटर अवनीश को मुंबई इंडियंस का बुलावा

टीम चयन के ट्रायल में हिस्सा लेगा काशीपुर का युवा हल्द्वानी। उत्तराखंड में क्रिकेट में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *