Home / Breaking News / नाशपाती के कम दाम ने किसानों की कमर तोड़ी

नाशपाती के कम दाम ने किसानों की कमर तोड़ी

पहाड़पानी/नैनीताल। जहां इन दिनों फलों की खूब मांगें होती थी। लेकिन इस बार किसानों की नाशपाती कमर तोड़ रही है। यही नहीं कई बार किसानों को नाशपाती भेजने के बाद उन्हें माल भेजकर ऊपर से बकाया राशि का पर्चा भुगतान करना पड़ रहा है। बतातें चलें कि धारी, रामगढ़, ओखलकांडा ब्लॉक के अधिकतर गांवों में नाशपाती, जागनेल व तुमडिय़ा आदि क्षेत्रों में अनेक प्रकार की नाशपाती का सीजन चलता था, वह अब किसानों के ऊपर कर्ज चढ़ा रहा है। इस तरह से बिक रही नाशपाती और इतनी आती है लागत दूर गांवों से बीस से पच्चीस किलोग्राम का कट्टा आता है। जिसमें 25 से 40 रुपए कट्टे की लागत आती है घोड़े के किराये से और खाली वारदाना 20 से पच्चीस रुपए लगता है। सडक़ मार्ग से हल्द्वानी जाने का किराया 18 से 25 रुपए कट्टा और दो रुपए पल्लेदारी के देने होते हैं। यानी कि 70 रुपए से 120 रुपए तक की प्रति कट्टे की लागत आती है जो बाजार में 80 रुपए से 120 रुपए कट्टे तक बिक रही है। कई किसानों की मेहनत करने के बाद उल्टा आढ़ती को पैसा देना पड़ रहा है। कई बार माल नहीं बिकने पर हल्द्वानी के आढ़ती उसे फिर गाड़ी से वापस पहाड़ भेज देते हैं। जिसका किराया माल मालिक को देना होता है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी : आर्यसमाज में विश्व कल्याण यज्ञ

हल्द्वानी। आर्यसमाज के वेद प्रचार एवं विश्व कल्याण यज्ञ के दूसरे दिन प्रात:कालीन सत्र में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *