Home / Breaking News / नैनीताल: नौकरी का झांसा देकर पैसा ठगने वाला फर्जी कर्नल धरा
नैनीताल में युवकों फरार फर्जी कर्नल के बावत पूछताछ करते कोतवाल ध्यान सिंह।

नैनीताल: नौकरी का झांसा देकर पैसा ठगने वाला फर्जी कर्नल धरा

नैनीताल में युवकों फरार फर्जी कर्नल के बावत पूछताछ करते कोतवाल ध्यान सिंह।

नैनीताल में की थी लाखों की ठगी, वारंट लेकर कानपुर जायेगी पुलिस टीम

नैनीताल। सेना में नौकरी लगाने के नाम पर नैनीताल में लोगों से लाखों रूपया ठगने वाला फर्जी कर्नल सूर्य प्रताप सिंह बीते दिन कानपुर में धरा गया। कानपुर में भी आरोपी के खिलाफ नौकरी का झांसा देकर करीब 8 लाख 40 हजार की ठगी करने पर कई धाराओं में केस दर्ज है। वहीं शनिवार को फर्जी फौजी का खुलासा होने के बाद ठगी का शिकार हुए और भी लोग शिकायत लेकर कोतवाली पहुंचे। अन्य दो और लोगों ने फर्जी कर्नल के खिलाफ एक लाख 60 हजार रुपये ठगने का मामला दर्ज करवाया है। इधर कोतवाल ध्यान सिंह ने कहा है कि नैनीताल में ठगी करने वाला आरोपी कानपुर में पकड़ा गया है। नैनीताल में ठगी का मामला दर्ज कर लिया गया है। शीघ्र ही पुलिस टीम वारंट लेकर कानपुर जायेगी। नैनीताल पुलिस फिलहाल कानपुर पुलिस के सम्पर्क में है।
मालूम हो कि बीते डेढ़ माह से मल्लीताल स्थित सुमन रेजेन्सी होटल में रह रहे फर्जी कर्नल द्वारा सेना में नौकरी लगाने के बहाने रूपये ठगने का मामला सामने आया था। जिसमें सुमन रेजेन्सी होटल के मैनेजर कमल किशोर और उसके भाई विनोद कुमार से उसने तीन लाख रूपये लेकर फरार हो गया था। मैनेजर की तहरीर पर पुलिस ने फर्जी कर्नल के खिलाफ धारा 420 के तहत मामला पंजीकृत कर लिया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नैनीताल पुलिस के द्वारा मामले को लेकर सोशल मीडिया में पोस्ट डाली गई थी जिसमें नैनीताल में हुई ठगी की जानकारी के साथ ही फर्जी कर्नल की नैनीझील किनारे खिचाई गई फोटो भी वायरल की गई थी साथ ही पुलिस द्वारा विभिन्न थानों और एसओजी को भी सूचना दे दी गई थी जिसके बाद कानपुर पुलिस भी सक्रीय हो गई जिससे फर्जी कर्नल कानपुर पुलिस द्वारा गिरफ्त में ले लिया गया। मामले में कोतवाल ध्यान सिंह ने बताया कि उन्हे भी यह सूचना मिली है कि ठगी का आरोपी फर्जी कर्नल कानपुर पुलिस की गिरफ्त में आ गया है जिसकी सूचना की वह पुष्टी कर रहे है। उन्होंने बताया कि आरोपी को नैनीताल लाये जाने के लिए न्यायालय के समक्ष वारंट बी जारी किये जाने का प्रार्थनापत्र पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया जिस होटल में फर्जी कर्नल ठहरा हुआ था उस कमरे को सील कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि ठगी के शिकार हुए पीडि़तो के पुलिस के द्वारा बयान लिये गए है साथ ही मामले की जानकारी के लिए बैंक के सीसीटीवी फुटेज लिये जाने के साथ ही अन्य साक्ष्य जुटाए जाएगें। सेना में नौकरी लगाने के बहाने ठगी करने का मामला दिनभर नगर में चर्चाओं में रहा। ठगी का शिकार हुए दो अन्य लोग शिकायत लेकर कोतवाली पहुंचे। जिनमें नांव चला कर गुजर बसर करने वाले चनी राम आर्य ने एक लाख रूपयों की ठगी का मामला दर्ज करवाया। उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने बेटे मनोज कुमार की नौकरी लगाने के एवज में दो? किस्तों में एक लाख रूपये फर्जी कर्नल को दिये। वही दूसरे मामले में मल्लीताल पिल्ग्रीम निवासी खडक़ सिंह रावत ने बताया कि उसने अपनी पत्नी के भाई के बेटे की नौकरी लगाने के एवज में फर्जी कर्नल को 60 हजार रूपये दिये जिसकी शिकायत उन्होंने कोतवाली में दर्ज करवाई है।

बाक्स-
फिर कारगर साबित हुआ सोशल मीडिया
नैनीताल। आईटी के इस दौर में फर्जी कर्नल की गिरफ्तारी सोशल मीडिया एक बार फिर काफी कारगर साबित हुआ है। मल्लीताल कोतवाली में ठगी के शिकार हुए होटल मैनेजर व उसके भाई के द्वारा धोखाधड़ी कर रुपये हड़पे जाने की शिकायत दर्ज करवाने के बाद पुलिस ने तत्काल सोशल मीडिया में पूरे मामले की जानकारी अपडेट करने के साथ ही फर्जी कर्नल का फोटो भी वायरल कर दिया जिसके बाद उत्तराखंड समेत उत्तर प्रदेश की पुलिस भी हरकत में आ गई और आरोपी कानपुर पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

About saket aggarwal

Check Also

डेंगू : बकरी का दूध बना अमृत

हल्द्वानी। अगर आपके पास बकरी है और वह भी दूध देने वाली तो इन दिनों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *