Home / Breaking News / रुद्रपुर:नजूल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व सांसद पासी

रुद्रपुर:नजूल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व सांसद पासी

रुद्रपुर। नजूल भूमि पर बसे लोगों को लेकर हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ पूर्व सांसद बलराज पासी सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। पूर्व सांसद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी है। मंगलवार को इस याचिका पर सुनवाई हुई। शाम तक फैसला आने की उम्मीद है।
नजूल पर बसे लोगों को उजाडऩे के हाईकोर्ट के आदेश से रुद्रपुर वासियों में भय का माहौल बरकरार है। एक अक्टूबर को बस्ती बचाओ संघर्ष समिति के प्रदर्शन में पूर्व सांसद बलराज पासी ने भी शिरकत की थी। पूर्व सांसद ने लोगों को भरोसा दिया था कि वे इस मुद्दे को लेकर सरकार से लेकर कोर्ट तक संघर्ष करेंगे। इन लोगों के आशियाने को बचाने के लिए पूर्व सांसद बलराज पासी ने एक कदम उठाते हुए सुप्रीम कोर्ट की शरण ली है। पिछले तीन दिन से दिल्ली में डेरा डाले पासी ने तमाम वकीलों से मशविरे के बाद याचिका दायर की। नजूल भूमि पर बसे लोगों को मालिकाना हक दिलाने के लिए पूर्व सांसद बलराज पासी सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए। पूर्व सांसद ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ याचिका दायर की। मंगलवार को इस मामले की सुनवाई दोपहर तक चली। पूर्व सांसद ने बताया कि इस मामले में शाम तक सकारात्मक फैसला आने की उम्मीद है। सुप्रीम कोर्ट ने यदि इस याचिका को स्वीकार कर लिया तो पूरे मामले को सुना जाएगा। पूर्व सांसद ने दावा किया कि शीघ्र ही नजूल भूमि पर बसे लोगों को मालिकाना हक दिलाने का दावा किया है। यहां बता दें कि कुछ दिन पूर्व रुद्रपुर में उच्च न्यायालय के आदेश पर नजूल भूमि पर बसे लोगों को हटाने के लिये तमाम मलिन बस्ती को रामलीला मैदान में आयोजित महासभा को सम्बोधित करते हुये बलराज पासी ने कहा कि किसी भी गरीब को उजडऩे नहीं दिया जायेगा। इसके लिए प्रदेश सरकार प्रयासरत है। कहा कि नजूल भूमि पर बसे लोगों को मालिकाना हक दिलाने के लिए ऐड़ी से चोटी तक जोर लगा देंगे। पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा कि उनका रुद्रपुर वासियों से गहरा रिश्ता है वह यहां के लोगों के सुख:दु:ख को भली भांति जानते हैं। ये सिर्फ रुद्रपुर ही नहीं राज्य के तमाम शहरों से जुड़ा मामला है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: ओवरहैड टैंक निर्माण को वित्त मंत्री से मिले

पार्षद के नेतृत्व में मिले लोगों ने केदारपुरम डी क्लास व खन्ना फार्म में पेयजलापूर्ति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *