Breaking News
Home / Breaking News / निजी अस्पतालों की हड़ताल जारी

निजी अस्पतालों की हड़ताल जारी

हल्द्वानी। संशोधित क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट लागू करने और वन टाइम सेटलमेंट स्कीम में छूट की मांग को लेकर प्रदेशभर के निजी अस्पतालों की हड़ताल जारी है। आज अस्पतालों के हड़ताल का तीसरा दिन है। हड़ताल की वजह से मरीजों की काफी फजीहत हो रही है और फिलहाल हड़ताल वापसी के अभी कोई असर नहीं हैं।
भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) के अधीन प्रदेशभर के अधिकांश निजी अस्पताल, क्लीनिक और नर्सिंग होम संचालकों के अलावा पैथोलॉजी लैब भी बंद हैं। आईएमए शाखा हल्द्वानी के अध्यक्ष डा. डीसी पंत ने कहा कि हम अपनी मांगों पर कायम हैं और अस्पतालों, पैथोलोजी लैब की बंदी जारी रहेगी। चिकित्सकों का कहना है कि सरकार समझौते के बावजूद एक्ट में उनके सुझावों और संशोधनों को शामिल नहीं कर रही है। इससे आईएमए सदस्यों में रोष है। इसके चलते उन्हें तालाबंदी करने को मजबूर होना पड़ा है। सरकार वन टाइम सेटलमेंट स्कीम के तहत हमें छूट नहीं दे रही है। आए दिन हमारे भवन प्रावधानों को लेकर शासन-प्रशासन की ओर से चेतावनी दी जा रही है। हमारे भवनों को अवैध बताया जा रहा है। जब हमारे भवन अवैध हैं तो हम खुद ही उन पर तालाबंदी कर रहे हैं। इधर आज काशपुर में काशीपुर में संघ की बैठक हो रही है। इधर निजी अस्पतालों में बंदी के कारण सरकारी अस्पतालों पर काफी दबाब पड़ रहा है। अन्य दिनों के मुकाबले हल्द्वानी में राजकीय महिला चिकित्सालय, सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय, सोबन सिंह जीना अस्पताल में मरीज उमड़ रहे हैं। सरकार और चिकित्सकों की लड़ाई में मरीजों की फजीहत हो रही है और पूरे उत्तराखंड में ही यही हालात हैं।

About saket aggarwal

Check Also

इंडो-नेपाल कराटे चैंपियनशिप में खिलाडिय़ों ने दिखाया दमखम

कैप्शन-कराटे चैंपियनशिप में प्रतिभाग करते खिलाड़ी   हल्द्वानी। इंडो-नेपाल कराटे चैंपियनशिप में खिलाडिय़ों ने दमखम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *