Home / Breaking News / रुद्रपुर:ओलंपिक डे रन में शामिल हुए ‘बेमन’

रुद्रपुर:ओलंपिक डे रन में शामिल हुए ‘बेमन’

रुद्रपुर। अंतरराष्टï्रीय ओलंपिक दिवस के मौके पर शहर में ओलंपिक डे रन आयोजित की गई। शहर में प्रतीकात्मक दौड़ लगाकर खेलों के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गया।
गांधी पार्क में ओलंपिक डे रन को पूर्व सीएम हरीश रावत, पूर्व सांसद बलराज पासी, पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़, विधायक राजकुमार ठुकराल ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। गांधी पार्क, अग्रसेन चौक, काशीपुर बाइपास, अग्रवाल धर्मशाला गली, भगत सिंह चौक, मुख्य बाजार, महाराजा रणजीत सिंह चौक होते हुए वापस गांधी पार्क में आकर समाप्त हुई। रैली में शामिल लोग जागरूकता संदेश वाली तख्तियां लिए हुए थे। पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि खेलों को लेकर राज्य में लगातार जागरूकता आ रही है। राज्य की तमाम प्रतिभाएं दूसरे प्रदेशों से खेलकर देश में ही नहीं अपितु अंतरराष्टï्रीय स्तर पर नाम रोशन कर रहे हैं। पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा राज्य सरकार खेलों को बढ़ावा देेने के लिए प्रतिबद्ध है। हाल ही में राज्य की क्रिकेट एसोसिएशन को रणजी का दर्जा मिलना इसका प्रमाण है। पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ ने कहा कि हमें अपने बच्चों को खेलों के प्रति जागरूक करना होगा। पढ़ाई की तरह खेलों को भी लेकर भी अभिभावक जागरूक हों। विधायक राजकुमार ठुकराल ने स्पोट्र्स स्टेडियम की हालत सुधारने का वायदा किया। कार्यक्रम का संचालन केवल कृष्ण बत्रा ने किया।
इस मौके पर एसएसपी डा. सदानंद दाते, देवभूमि व्यापार मंडल अध्यक्ष गुरमीत सिंह, डा. अजय कुमार सिंह, पूर्व पालिकाध्यक्ष मीना शर्मा, अनिल शर्मा, राजेंद्र मिश्रा, सुशील गाबा, अंशु शुक्ला, ओलंपिक एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री डीके सिंह, जिलाध्यक्ष डा. नागेंद्र शर्मा, संजय ठुकराल, नागेंद्र तिवारी, शिवपद सरकार, रजनीश बत्रा, पीसी जोशी, धर्मेंद्र शर्मा, लक्ष्मण सिंह, हरीश बावरा मौजूद रहे।

प्लास्टिक का जमकर हुआ उपयोग
ओलंपिक डे रन में तमाम लोग पहुंचे। तमाम अभियान की जागरूकता संबंधी स्लोगन वाले फ्लैक्सी लेकर लोग चल रहे थे। इसमें पर्यावरण व स्वच्छता को लेकर संदेश भी थे लेकिन डे रन में शामिल लोगों ने ही इसकी जमकर धज्जियां उड़ाईं। आयोजकों ने पानी के लिए प्लास्टिक डिस्पोजल का इंतजाम किया। लेकिन एक डस्टबिन तक नहीं रखवाया गया। जिससे प्लास्टिक व दूसरा कूड़ा इधर-उधर बिखरा रहा।

 

फोटो खिंचाने के लिए होती रही धक्का मुक्की
ओलंपिक डे रन की आयोजन समिति के लोग ही फोटो खिंचाने के लिए धक्का मुक्की करते रहे। जिससे कार्यक्रम में हालात बद से बदतर रहे। पूर्व सीएम हरीश रावत जैसे ही बच्चों के बीच जाकर बैठे तो एकाएक मंच से उतरकर लोग फोटो खिंचाने पहुंच गए। जिससे अव्यवस्था का माहौल बना रहा।
रन में बच्चों ने बचाई लाज
ओलंपिक डे रन को लेकर भीड़ नहीं जुट सकी। स्कूलों से बुलाए गए बच्चों ने आयोजकों की लाज बचा ली। नहीं तो शहर के लोगों के नाम पर आयोजन समिति के सदस्य व अतिथि ही पहुंचे। इसके अलावा आम शहरी इस आयोजन से दूर रहा। कहा जाए कि जिस जागरूकता के संदेश से ओलंपिक डे रन का आयोजन किया गया। वह अधूरा ही रहा।

 

अव्यवस्थाओं का रहा बोलबाला
ओलंपिक डे रन के लिए अव्यवस्थाओं का बोलबाला रहा। आयोजकों ने बच्चों को सुबह साढ़े छह बजे बुलाया जबकि आयोजक समिति के लोग खुद सात बजे पहुंचे। समय भी सात बजे का निर्धारित था। पूर्व सीएम व दूसरे अतिथियों के देरी के आने की वजह से सुबह सवा आठ बजे ओलंपिक डे रन शुुरू हो सकी। भीषण गर्मी के चलते लोगों ने दौडऩे की बजाय पैदल ही चलना उचित समझा।

‘नेताजी’ पर एक और असफलता का दाग
ओलंपिक एसोसिएशन में शामिल एक पदाधिकारी क्षेत्र में राजनीतिक तौर पर खासे सक्रिय रहे हैं। कई राजनीतिक दलों के बैनर से उन्होंने राजनीति की लेकिन हमेशा असफल ही रहे। अब ओलंपिक एसोसिएशन के बैनर से फिर सक्रियता दिखाने की कोशिश की। प्रदेश पदाधिकारी होने के बाद आयोजन के लिए अपना शहर चुना। लैपटॉप लेकर फोटो छपवाकर आयोजन को हाईलेवल का दिखाने की कोशिश की गई। मंच पर कांग्रेस व भाजपा नेताओं को बैठाकर अपनी महत्वाकांक्षाओं को परवान चढ़ाने की कोशिश की गई लेकिन नतीजा पहले की तरह ढाक के तीन पात रहा। आयोजन सफल नहीं हो सका और ‘नेताजी’ फिर से फ्लॉप हो गए।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: एक रॉयल्टी में दो बार निकासी करते पकड़ा रेते से भरा ट्रक

हल्द्वानी। वन विभाग की टीम ने फर्जी तरीके से अवैध रेता ले जा रहे ट्रक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *