Home / Breaking News / देहरादून:ओपन यूनिवर्सिटी के समीप बनेगा आईएसबीटी

देहरादून:ओपन यूनिवर्सिटी के समीप बनेगा आईएसबीटी

देहरादून। हल्द्वानी में बहुप्रतिक्षित अंतरराज्यीय बस अड्डे का निर्माण अब ओपन यूनिवर्सिटी के समीप होगा। सोमवार को विधानसभा भवन के सभा कक्ष में हुई एक बैठक में इस आशय का फैसला लिया गया। परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने हल्द्वानी आईएसबीटी के निर्माण के सिलसिले में यह बैठक आहुत की थी।
हल्द्वानी मंे आईएसबीटी का निर्माण अरसे से एक बड़ा सियासी मुद्दा बना है। तत्कालीन कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में आईएसबीटी का निर्माण गोलापार प्रस्तावित था। इसे लेकर चिन्ह्ति भूमि की समतलीकरण का कार्य भी हो गया था। लेकिन, सत्ता परिवर्तन के साथ ही आईएसबीटी का निर्माण अधर में लटक गया। प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद बीजेपी सरकार ने हल्द्वानी में प्रस्तावित आईएसबीटी का निर्माण गोलापार की बजाय कहीं दूसरी जगह कराने का फैसला किया। बीजेपी सरकार के इस फैसले पर हल्द्वानी में सियासत भी गरमाई रही। कांग्रेस की कद्दावर नेता डा इंदिरा हृदयेश के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने इस मुद्दे पर प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए धरना-प्रदर्शन और अनशन जैसे आंदोलनात्मक कदम उठाए। बावजूद इसके बीजेपी सरकार अपने फैसले पर बनी रही और सरकार ने हल्द्वानी में आईएसबीटी के निर्माण के लिए नई जगहों की तलाश को कवायद आगे बढ़ा दी।
अब इसी कड़ी में बीजेपी सरकार ने आईएसबीटी के लिए हल्द्वानी में नई जगह फाइनल कर दी है। सोमवार को प्रदेश के परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने विधान सभा, सभा कक्ष में परिवहन विभाग की हल्द्वानी आईएसबीटी निर्माण के सम्बन्ध में बैठक की। बैठक में हल्द्वानी आईएसबीटी के लिए तीन स्थलों के रूप में चिन्ह्ति भूमि पर चर्चा की गई। चिन्ह्ति भूमि में पहा स्थान ग्लोबल लैंड को-आपरेटिव प्राइवेट लिमिटेड, नोवा स्टील, कमलवा गाजा, दूसरा स्थान फारेस्ट ट्रेनिंग सेन्टर के समीप, तीसरा स्थान ओपन यूनिवर्सिटी समीप है। बैठक में निर्णय लिया गया कि ओपन यूनिवर्सिटी के समीप भूमि पर हल्द्वानी आईएसबीटी, का निर्माण किया जाएगा। शहर से यातायात का दबाव कम करने के लिए हल्द्वानी सिटी में स्थित कार्यशाला को शिफ्ट करके प्रस्तावित आईएसबीटी के साथ ही स्थापित करने पर भी सहमति व्यकत की गई। लगभग 10 हेक्टेयर भूमि पर प्रोजेक्ट का निर्माण होगा। बैठक में परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आईएसबीटी का निर्माण हल्द्वानी सहित पूरे मंडल की दीर्घकालिक वर्षों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए ठोस योजना के अन्तर्गत कराया जाए। उन्होंने उक्त भूमि पर आईएसबीटी का निर्माण कार्य जल्द शुरु कराने के लिए प्रस्ताव तैयार कर वन भूमि हस्तानांतरण की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश भी दिए हैं। इस अवसर पर सचिव परिवहन शैलेश बगोली, अपर सचिव परिवहन एचसी सेमवाल, अपर आयुक्त परिवहन सुनिता सिंह, एडीएम नैनीताल हरवीर सिंह, आरटीओ दिनेश पठोई, एआरटीओ व अरविन्द पाण्डेय आदि मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

कांग्रेस के सचिन बने नैनीताल पालिका अध्यक्ष

निर्दलीय किशन नेगी ने अंतिम समय तक दी टक्कर, तीसरे पायदान पर भाजपा उत्तरांचल दीप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *