Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / पैसिफिक माॅल ने जुटाई 1.30 लाख पुस्तकें
दून बुक बैंक समारोह का दीप जलाकर शुभारंभ करते स्कूली शिक्षा महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी व पैसिफिक माॅल के सेंटर डायरेक्टर भरत सिसोदिया और अन्य अतिथिगण

पैसिफिक माॅल ने जुटाई 1.30 लाख पुस्तकें

जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए चलाया अभियान
शिक्षा विभाग के सहयोग से चली मुहिम
‘दून बुक बैंक’ दिया गया अभियान को नाम
स्कूलों में होगा वितरण, लाइब्रेरी भी खुलेगी
देहरादून। राजधानी दून की लोकप्रिय शाॅपिंग डेस्टिेशन पैसिफिक माॅल सामाजिक सरोकारों से जुड़ी गतिविधियों को भी तेजी से आगे बढ़ा रहा है। इसी कड़ी में माॅल प्रबंधन ने राज्य के शिक्षा विभाग के साथ मिलकर सर्व शिक्षा अभियान के तहत एक विशेष मुहिम शुरु की गई थी। इस मुहिम को ‘दून बुक बैंक’ अभियान नाम दिया गया। माॅल प्रबंधन, शिक्षा विभाग और देहरादून की जनता के समन्वित प्रयास से इस अभियान ने बड़ी सफलता हासिल कर ली है। ‘दून बुक बैंक’ में 1.30 लाख पुस्तकें जमा हो चुकी हैं।
इस उपलब्धि पर पैसिफिक माॅल में समारोह का आयोजन कर एकत्र हुई किताबांे के वितरण का सिलसिला शुरु किया गया। समारोह का शुभारंभ स्कूली शिक्षा महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी, एसएसए के निदेशक डा मुकुल सती, जिला शिक्षा अधिकारी डा हेमलता, माॅल के सेंटर डायरेक्टर भरत सिसोदिया, बुकनर्स संस्था के संस्थापक रोहन व नेहा राज और यूथ फाॅर ह्यूमन राइट्स की निदेशक शक्ति मनोचा ने दीप प्रज्जवलित कर किया। समारोह में ‘दून बुक बैंक’ अभियान के तहत एकत्र पुस्तकें जरूरमंद बच्चों के लिए कई स्कूलों को भेंट की गई।


शासकीय कार्यों में व्यवस्तता के चलते शिक्षा मंत्री समारोह में उपस्थित नहीं हो पाए, मगर उन्हें मोबाइल से दिए अपने संदेश में अभियान के सफलता के लिए पैसिफिक माॅल का आभार जताया। समारोह को संबोधित करते हुए स्कूली शिक्षा महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी ने कहा कि इस अभियान को देहरादून में जो बड़ी सफलता मिली है, उसमें पैसिफिक माॅल के प्रयासों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। उन्होंने आम लोगों से अपील की कि पढ़ने के बाद इस्तेमाल नहीं होने वाली किताबों को दान करने के लिए आगे आएं। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने अभियान की सराहना करते हुए कहा कि इससे पढ़ने वाले जरूरतमंद विद्यार्थियों को बड़ी मदद मिलेगी। साथ ही आम भी पुस्तकें दान कर सेवा कार्यों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकेंगे।

समारोह में सरस्वती वंदना पेश करते स्कूली बच्चे

पैसिफिक माॅल के सेंटर डायरेक्टर भरत सिसोदिया ने बताया कि ‘दून बुक बैंक’ अभियान की शुरुआत इसी साल जनवरी माह में की गई थी। विभिन्न माध्यमों से किताबों को एकत्र किया गया। शहर के लोगों से मिले सक्रिय सहयोग के कारण हम अब तक एक लाख 30 किताबें एकत्र करने में सफल रहे हैं। उन्होंने बताया कि जनता व संस्थाओं से एकत्र हुई किताबों में प्राथमिक, जूनियर, हाईस्कूल व माध्यमिक स्तर से लेकर मेडिकल व इंजीनियरिंग की किताबें भी शामिल हैं। इन सभी किताबों को अलग-अलग स्टैंडर्डवाइज व्यवस्थित कर अब वितरण का कार्य शुरु किया गया है। उन्होंने बताया कि देहरादून सहित राज्य के विभिन्न 23 स्कूलों व उच्च शिक्षण संस्थानों को एकत्र किताबें जरूरमंद बच्चों के लिए उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही सरप्लस किताबों से लाइब्रेरी खोलने की दिशा में भी प्रयास आगे बढ़ाए जाएंगे।
भरत सिसोदिया ने कहा कि पैसिफिक माॅल सिर्फ शाॅपिंग व मनोरंजन के डेस्टिनेशन की मंशा से ही काम नहीं कर रहा है। समाजहित की रचनात्मक गतिविधियों व जरूरतमंदों की मदद के लिए भी पैसिफिक माॅल बढ़ चढ़कर काम कर रहा है। इस अवसर पर पैसिफिक माॅल देहरादून के मैनेजर आॅपरेशंस रोहित मिश्रा भी मौजूद रहे।

About madan lakhera

Check Also

‘आप’ की हुई मैडम या मैडम की हुई ‘आप’!

‘आप’ की हुई मैडम या मैडम की हुई ‘आप’! पार्टी का कैडर और अधिकांश पदाधिकारियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *