Home / Breaking News / नैनीताल : पहाड़ों पर धूप ने दिए दर्शन, मौसम सुहाना
नैनीताल के पंत पार्क में सुहावने मौसम के बीच घूमते सैलानी।

नैनीताल : पहाड़ों पर धूप ने दिए दर्शन, मौसम सुहाना

नैनीताल। सोमवार को नैनीताल सहित पहाड़ी क्षेत्रों में सुबह से ही धूप खिलने से मौसम सुहावना बना रहा। नैनीताल में सोमवार को सैलानियों की संख्या में अधिक इजाफा नहीं हो पाया। अधिकांश होटल पैक नहीं हो पाये। नैनीताल से सैलानियों की वापसी होने के बावजूद नैनीताल सहित आसपास के पर्यटक स्थलों में सैलानियों की चहल-पहल बनी हुई है। इधर पर्यटक वाहनों की संख्या घटने के बाद सोमवार को लम्बे समय के बाद नैनीताल शहर में यातायात व्यवस्था पटरी में दिखाई दे रही है। शहर की सडक़ें जाम से अधिकांश समय मुक्त रही। लेकिन मल्लीताल रिक्शा स्टैंड कई स्थानों में वाहन रेंगते हुए चले। इन स्थानों में जाम की सबसे कड़ी समस्या बन रही है। प्रशासन द्वारा अब वाहनों को चारखेत, बल्दियाखान बाईपास मार्ग से नैनीताल में पार्किंग की स्थिति देखते हुए वाहनों को क्रमबद्धता से नगर में आने दिया जा रहा है। सैलानियों की चहल-पहल से पर्यटन कारोबारियों के चेहरे में रौनक बनी हुई है। बीते दिनों यहां अचानक सैलानियों के उमड़ पडऩे के बाद शहर अव्यवस्थाओं से घिरा रहा। लेकिन अब होटलों में भी अधिक भीड़ नही है। यहां पहुंच रहे सैलानी सर्वाधिक नैनी झील में नौकायन व केबिल कार के सफर के लिए आ रहे है। आर्द्रता अधिकतम 54 व न्यूनतम 40 प्रतिशत रिकार्ड किया गया। नैनी झील नियंत्रण कक्ष के प्रभारी रमेश सिंह गैड़ा ने बताया कि सोमवार को जल स्तर चार इंच पर स्थिर रहा।

 

 

 

नैनीताल आने वाले सैलानियों का अब अन्य पहाड़ी क्षेत्रों को रूख
नैनीताल। सरोवर नगरी में इस बार भी बीते वर्षों की तरह सैलानियों का रैला उमड़ रहा है। बीते दिनों पुलिस द्वारा वाहनों को नैनीताल नही आने देने की कवायद के चलते गर्मी की छुट्टिया मनाने आने वाले पर्यटकों की संख्या अन्य पर्वतीय शहरों को डायवर्ट हो रही है। वाहन पार्किंग व मंहगाई के लिए सुर्खियों में रहे नैनीताल आने वाला पर्यटक दूसरी बार नैनीताल का रूख नहीं करता, लेकिन इस बार यातायात की समस्या को दुरुस्त करने की प्रशासनिक कवायद के चलते गर्मी की छुट्टियां मनाने आने वाला पर्यटक अन्यत्र जा रहा है। अब तक मिल रही सूचनाओं के मुताबिक सैलानियों ने अल्मोड़ा, मुनस्यारी, बिनसर, चौकोड़ी, रानीखेत, बेरीनाग, खुर्पाताल, सातताल का रूख किया है। इधर होटल कारोबारियों का कहना है कि जून माह में उनके होटल पैक रहते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं है। सैलानियों की भीड़ ताक देखी जा रही है। लेकिन वह नैनीताल के बजाय अन्य स्थानों के लिए रूख कर रहा है। होटल मानसरोवर के प्रबंधक रमेश चन्द्र टम्टा का कहना है कि इस बार होटल व्यवसाय 40 प्रतिशत तक गिर गया है।

About saket aggarwal

Check Also

कुमंविनि के आवास गृहों में 22 दिसम्बर से दो जनवरी तक छूट को ना

उत्तरांचल दीप ब्यूरो, नैनीताल। कुमाऊं में आने वाले पर्यटकों को कुमाऊं मंडल विकास निगम के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *