Breaking News
Home / Breaking News / संचार का श्रेष्ठ माध्यम है रेडियो

संचार का श्रेष्ठ माध्यम है रेडियो

पंतनगर। विश्व रेडियो दिवस पर पंतनगर विश्वविद्यालय में रेडियो दिवस मनाया गया। इस अवसर पर कुलपति प्रो. ए.के. मिश्रा ने कहा कि रेडियो संचार का प्रभावी माध्यम है जिससे हमेशा सीखने, खोजने, मनोरंजन और एक साथ मिलकर आगे बढऩे का केन्द्र बिन्दु बना रहा और रहेगा। साथ ही रेडियो हमें अपनों को नजदीक लाता है। आज सोशल मीडिया के दौर में भी रेडियो पसंदीदा मनोरंजन का साधन रहा है।
विदित हो कि विश्वविद्यालय के सामुदायिक रेडियो सेवा जनवाणी द्वारा आयोजित किया गया था जिसमें रेडियो से जुड़े लगभग 80 से अधिक लोग मौजूद थे।
इससे पूर्व सभा में रेडियो प्रेमियों को विश्व रेडियो दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कुलपति ने कहा कि रेडियो संचार का शक्तिशाली माध्यम है। रेडियो ने हमारे जीवन को कई मायनों में प्रभावित किया चाहे स्वास्थ्य की बात हो या कृषि की, षिक्षा की या सरकारी योजनाओं की। रेडियो की आवाज पिछले लगभग 6 दशकों से हमारे जीवन में रंग भर रहा है। उन्होंने कहा कि कि भारत में आकाशवाणी के 420 स्टेशन है जिनकी 92 प्रतिशत क्षेत्र में लगभग 90 प्रतिषत आबादी तक पहुंच है। आकाशवाणी 23 भाषाओं और 14 बोलियों में पूरे देश में प्रसारण करता है। देश में पंतनगर जनवाणी की ही भांति 214 सामुदायिक रेडियो केन्द्र भी सक्रिय हैं।
इससे पूर्व संचार निदेशक डा. ज्ञानेन्द्र शर्मा ने कहा कि यूनेस्को ने 2011 में विश्व स्तर पर रेडियो दिवस मनाने का निर्णय लिया। 13 फरवरी का दिन विश्व रेडियो दिवस के रूप में इसलिए चुना गया क्योंकि 13 फरवरी 1946 से संयुक्त राष्ट्र संघ ने रेडियो के प्रसारण की शुरूआत की थी।
संयुक्त निदेशक संचार डा. शिवेन्द्र कुमार कश्यप ने बताया कि रेडियो के माध्यम से आम आवाम की आवाज आसानी से पहुंचाई जा सकती है और इसकी अहमियत आज भी है। इसी अहमियत को बनाये रखने में जनवाणी भी पिछले लगभग सात सालों से 250 से अधिक गावों के लोगों की आवाज बनकर उनके जीवन में आवाज और ध्वनि की शक्ति के जरिये रंग घोल रहा है।
इस दौरान विद्यालयी स्तर पर कला एवं निबंध प्रतियोगिता के विजेताओं को प्रमाण-पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।

About saket aggarwal

Check Also

बरेली:लालकुआं से झांसी के लिये विशेष गाड़ी का होगा संचालन

बरेली। रेल प्रशासन द्वारा ग्रीष्मकाल में यात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुये यात्रियों की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *