Home / Breaking News / पिता मनरेगा में मजदूर, स्कूल 20 किमी दूर, बेटे ने किया नीट पास

पिता मनरेगा में मजदूर, स्कूल 20 किमी दूर, बेटे ने किया नीट पास

नई दिल्ली (एजेंसी)। हाल ही में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नीट के नतीजे जारी किए थे, जिसमें करीब 7 लाख उम्मीदवारों ने परीक्षा पास की थी। पास होने वाले इन लाखों उम्मीदवारों में कई ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने भले ही टॉप ना किया हो, लेकिन उनकी कहानी काफी प्रेरणादायक है। उन लोगों में एक नाम है राजस्थान के कृष्ण कुमार का, जिन्होंने एनईईटी में सफलता हासिल की है।
राजस्थान के धौलपुर के रहने वाले कृष्ण कुमार अब डॉक्टर बनना चाहते हैं और अगर वे डॉक्टर बनने में सफल होते हैं तो अपनी ग्राम पंचायत के पहले डॉक्टर होंगे। साथ ही कृष्ण कुमार अपने जिले में एनईईटी परीक्षा पास करने वाले इकलौते उम्मीदवार हैं। कृष्ण कुमार के माता-पिता मनरेगा मजदूर के रूप में काम करते हैं और मुश्किलों में से अपना जीवनयापन करते हैं।
उनके माता-पिता ने कहा कि वे चाहते थे कि वे जीवन में जिन दुखों का सामना कर रहे थे, उनसे बाहर निकलें। उनके पिता मुन्ना लाल ने कहा, ‘मेरा लंबे समय का सपना पूरा हो गया है और मुझे गर्व है कि मेरा बेटा मेरे पंचायत में पहला डॉक्टर होगा।’ कुमार की मां अशिक्षित है और उन्होंने मुन्ना लाल ने 5वीं तक पढ़ाई की है।
रिपोर्ट्स के अनुसार कृष्ण कुमार ने अपने गांव में केरोसिन लैंप से अपनी पढ़ाई करते कई रातें बिताई, उनके पास आधुनिक लैंप खरीदने के लिए भी पैसे नहीं थे। बता दें कि हाल ही में आयोजित नीट एग्जाम में आल इंडिया 3,099 रैंक हासिल की है। वह अपने पंचायत से पहले एमबीबीएस डॉक्टर बनेंगे। कुमार ने अपने गांव से लगभग 20 किमी दूर एक हिंदी माध्यम सरकारी स्कूल से अपनी 12वीं की शिक्षा पूरी की।

About saket aggarwal

Check Also

पंतनगर:महिलाओं ने मनाया तीज उत्सव

पंतनगर। पंतनगर विवि के तराई भवन में तीज उत्सव के कार्यक्रम को हर्षोल्लास के साथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *