Home / Crime / अश्वनी ब्लाइंड मर्डर केस का पुलिस ने किया खुलासा

अश्वनी ब्लाइंड मर्डर केस का पुलिस ने किया खुलासा

खोजी कुत्तों ने दिया हत्यारों का सुराग
दो आरोपी गिरफ्तार, हत्या का जुर्म कबूला

देहरादून। डालनवाला पुलिस ने अश्वनी ब्लाइंड मर्डर केस की गुत्थी को 24 घंटे के भीतर सुलझा दिया है। मामले का खुलासा करने में पुलिस के खोजी कुत्तों की अहम भूमिका रही। पुलिस की डॉग सकुआयड ने ही हत्यारे का सुराग दिया। पुलिस ने हत्या के 2 आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। अश्वनी की हत्या पुरानी रंजिश में की गई थी।
आपको बता दें कि बुधवार आधी रात के बाद कंट्रोल रूम के माध्यम से थाना डालनवाला को सूचना प्राप्त हुई थी कि नालापानी क्षेत्र में एक व्यक्ति का शव पड़ा है। मौके पर नालापानी चौक के पास रहमतुला गली में एक युवक का शव पड़ा था, जिसका सर बुरी तरह से फटा हुआ था तथा नाली में डूबा था। मौके पर डॉग स्क्वाड तथा फील्ड यूनिट की टीम को बुलाकर घटनास्थल व आसपास के क्षेत्र से साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गई। आसपास के लोगो से पूछताछ करने पर मृतक युवक की पहचान अश्वनी कुमार पुत्र स्व0 धर्मपाल निवासी नालापानी रोड डालनवाला, उम्र 25 वर्ष के रूप में हुई। घटना के संबंध में मृतक के भाई अनुराग कुमार द्वारा थाना डालनवाला पर अज्ञात अभियुक्त के द्वारा उसके भाई की हत्या करने संबंधी प्रार्थना पत्र दाखिल किया, जिस पर थाना डालनवाला में धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात का अभियोग पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई।
घटना की गंभीरता के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती द्वारा प्रभारी निरीक्षक डालनवाला को पुलिस टीम गठित कर घटना के त्वरित अनावरण हेतु निर्देशित किया गया, जिस पर पुलिस अधीक्षक अपराध / पुलिस अधीक्षक नगर महोदय के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी डालनवाला के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की गयी। गठित टीम द्वारा घटनास्थल का बिंदुवार निरीक्षण कर आसपास के क्षेत्र से साक्ष्य संकलन की कार्यवाही कर मृतक के संबंध में पूर्ण जानकारी प्राप्त की गई। साक्ष्य संकलन की कार्यवाही के दौरान फॉरेंसिक टीम को मौके पर बिखरे खून में कुछ पैरों के निशान मिले, जिनका परीक्षण करते हुए फॉरेंसिक टीम तथा डॉग स्क्वाड टीम जब घटनास्थल से लगभग 100 – 150 मीटर दूर स्थित एक घर के पास पहुंची तो उक्त घर की दहलीज पर उन्हें खून के धब्बे दिखाई दिए, जिन्हें मौके पर संकलित कर परीक्षण हेतु फॉरेंसिक साइंस लैब भेजा गया। घर के संबंध में जानकारी करने पर ज्ञात हुआ कि उक्त मकान मोहल्ले में रहने वाले एक युवक राहुल उर्फ छोटा पुत्र चमनलाल का है, जिसके संबंध में आसपास के लोगों से पूछताछ करने पर ज्ञात हुआ की मृतक अश्विनी कुमार व राहुल उर्फ छोटू की आपस मे पुरानी रंजिश थी, जिसे लेकर उनके बीच पूर्व में भी विवाद हुआ था तथा घटना के दिन से ही राहुल उर्फ छोटू अपने घर से फरार चल रहा था। राहुल उर्फ छोटू के संबंध में और अधिक जानकारी करने पर पता चला की दिनांक 12-13/09/18 की रात्रि में राहुल उर्फ छोटू अपने एक अन्य दोस्त अवनीश उर्फ रिंकू के साथ मोहल्ले की एक बर्थडे पार्टी में लगे टेंट में काम कर रहा था तथा घटना के बाद से ही दोनों युवक फरार हैं। जिस पर पूर्ण संदेह होने पर पुलिस टीम द्वारा राहुल तथा उसके साथी की तलाश हेतु सभी संभावित स्थानों पर दबिश दी गई, जिस पर आज दिनांक 14-09-17 को पुलिस टीम द्वारा दोनो अभियुक्तगणों को परेड ग्राउंड के पास से गिरफ्तार किया गया, जिनके द्वारा पूछताछ में अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया की दिनांक 12-13/09/18 की रात्रि उक्त दोनों व्यक्ति बर्थडे पार्टी में काम करने के बाद वापस जा रहे थे तभी घटनास्थल के पास उनकी अश्वनी से मुलाकात हो गयी तथा उनके मध्य किसी बात को लेकर आपस में विवाद हो गया। विवाद के दौरान अभियुक्त गणों द्वारा पास पड़ी ईट को उठाकर अश्वनी के सर पर ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी तथा मौके से फरार हो गए। ईट से मृतक अश्वनी के सर पर वार करते समय अभियुक्त राहुल उर्फ छोटू के हाथों में चोट भी आई थी। अभियुक्तों की निशानदेही पर उनके द्वारा घटना के समय पहने गए कपड़े, जिसमें मृतक के खून के निशान है तथा हत्या में प्रयुक्त की गई ईंट को बरामद किया गया। राहुल उर्फ छोटू पूर्व में लड़ाई झगड़े के अभियोग में जेल जा चुका है। अभियुक्तों के अन्य आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

About madan lakhera

Check Also

शहरों में सरकार के लिए दे रहे अग्निपरीक्षा

मदन मोहन लखेड़ा, देहरादून। निकाय चुनाव की जंग में आज ‘मतदान’ का दिन है। प्रदेश के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *