Home / Breaking News / पंचतत्व में विलीन हुआ प्रकाश

पंचतत्व में विलीन हुआ प्रकाश

हल्द्वानी। देहरादून में मंत्री के जनता दर्शन कार्यक्रम में जहर खाने वाले हल्द्वानी के ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे का यहां रानीबाग के चित्रशिला घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके बेटे मोहित ने रोते हुए पिता की चिता को मुखाग्नि दी। प्रकाश के भाई ललित ने भी उसकी मदद की। इस बीच सैकड़ों लोगों ने उनकी अंत्येष्टïी में हिस्सा लिया। उन्हें अंतिम विदाई देने पहुंचे हर शख्स की आखें नम थी।
आज सुबह प्रशासन- परिजनों व जन प्रतिनिधियों के बीच हुई त्रिपक्षीय बैठक के बाद प्रकाश पांडे के पार्थिव शरीर को उनके किराए के मकान से पिता के मकान में ले जाया गया। जहां से उनकी अंतिम यांत्रा शुरु हुई। उनके अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए सैकड़ों की संख्या में शहरवासी उनके घर पर जमा हो गए थे। जब उनके पाथर््िाव शरीर को उठाया गया तो घर में उपस्थित महिलाओं का रुदन देखकर लोगों के आखें छलक आईं।
प्रशासन ने उनकी अंतिम यात्रा के दौरान कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस और पीएसी की प्लाटून को काठगोदाम बाजार में तैनात किया था। उनकी शव यात्रा को वाहन में निकाला गया। चित्रशिला घाट पर उनकी चिता को सजाने का काम पहले ही पूरा कर लिया गया था। जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी, एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी, मेयर जोगेंद्र रौतेला, मंडी समिति अध्यक्ष समुमि ह्दयेश, सीओ हल्द्वानी दिनेश ढौंढियाल, सीओ रामनगर लोकजीत सिंह, सीओ काशीपुर, एसपी सिंटी उधमसिंह नगर केअलावा तमाम व्यापारी नेता, व शहर के लोग शामिल हुए। लोगों ने प्रकाश पांडे के आवास जाकर भी उनके परिजनों को ढांढस बंधाया।

कुल 12 लाख मुआवजा और पत्नी को नौकरी
हल्द्वानी। ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की मौत के बाद शहर का माहौल गमगीन बना है। इस बीच मृतक के आवास पर प्रशासनिक अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के बीच हुई वार्ता में तय किया गया कि मृतक प्रकाश की पत्नी को माह भर के भीतर संविदा पर नौकरी, मृतक परिवार को फौरी राहत के तौर पर फिलहाल दो लाख का नगद मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा 10 लाख का मुआवजा एक महीने में और दिये जाने पर सहमति बनी। वार्ता में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, मेयर जोगेंद्र रौतेला, पूर्व विधायक हरीश चंद्र दुर्गापाल, डीएम दीपेंद्र चौधरी, एसएसपी जन्मेजय खंडूरी व प्रकाश पांडे के जीजा उमेश मेलकानी शामिल हुए। यह बैठक प्रकाश पांडे के किराये के मकान के एक कमरे में सुबह साढ़े नौ बजे शुरु हुई और तकरीबन 11 बजे प्रकाश पांडे के परिवार को दी जाने वाली राहत की घोषणा की गई। तब तक शव को यूं ही रखा गया। इस बीच मंडी सभापति सुमित हृदयेश, महेश शर्मा, खजान पांडे, नवीन वर्मा, दीपक बल्यूटिया, राहुल छिमवाल समेत तमाम लोग शोक जताने पांडे के आवास पहुंचे।
पुलिस की तैनाती
हल्द्वानी। प्रकाश पांडे की मौत पर शहर में कानून व्यवस्था बनी रहे इसके लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने देर रात ही बैठक की आवश्यक इंतजाम कर लिए थे। बाजारों में पुलिस व पीएसी तैनात की गई थी। खुफिया तंत्र भी हाई अलर्ट पर था।
दून में पुतला फूंका
देहरादून। प्रकाश पांडे की मौत के बाद कांग्रेस, केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ मुखर हो गई है। कांग्रेस ने यहां पार्टी मुख्यालय के बाहर राज्य की भाजपा सरकार का पुतला फूंक कर भाजपा के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।
भाजपा नेताओं की कमी खली
हल्द्वानी। ्रप्रकाश पांडे की अंत्येष्टïी में भाजपा के नेताओं ने दूरी ही बनाए रखी। जबकि कांग्रेस के छोटे से बड़े नेता उनके आवास पर पहुंचे। भाजपा की ओर से सिर्फ मेयर डा. जोगेंद्र सिंह रौतेला ही मौके पर पहुंचे व परिजनों को सांन्वना दी।
व्यापारियों का कैंडल मार्च आज
हल्द्वानी। ्रहल्द्वानी व्यापार मंडल ने प्रकाश पांडे की मौत पर आज कैंडल मार्च निकालने का ऐलान किया है। इसके अलावा व्यापारियों ने बाजार बंद को सफल बताया है। उनका कहना है कि व्यापारी साथी की मौत की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

 

About saket aggarwal

Check Also

तिवारी का अंतिम संस्कार कल, पुलिस मुस्तैद

हल्द्वानी। पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी के अन्तिम दर्शन/अन्तेष्टि हेतु सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *