Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का सीएम करेंगे शुभारंभ

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का सीएम करेंगे शुभारंभ

‘वन नेशन वन इलेक्शन’ पर होगा मुख्य सम्बोधन
जनसंपर्क क्षेत्र से जुडे 20 राज्यो के 500 प्रतिनिधि होंगे सम्मेलन में शामिल
देहरादून। देहरादून में पहली बार तीन दिवसीय राष्ट्रीय जनसंपर्क समेलन का आयोजन हो रहा है। यह आयोजन पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया के देहरादून चैप्टर द्वारा आयोजित किया जा रहा है। सम्मेलन का उदघाटन प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शनिवार शाम करेंगे। मुख्यमंत्री उद्घाटन सत्र में ‘वन नेशन वन इलेक्शन’ पर अपने विचार व्यक्त करेंगे। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव भी अपने विचार व्यक्त करेंगे।
आयोजन का समापन माननीय राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य द्वारा किया जाएगा। सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद डॉ रमेश पोखरियाल निशंक, वित्त मंत्री प्रकाश पंत, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज द्वारा भी विभिन्न विषयों विचार व्यक्त किये जाएंगे। पीआरएसआई देहरादून चैप्टर के अध्यक्ष विमल डबराल ने बताया कि पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया देहरादून चैप्टर 8 से 10 दिसम्बर के बीच तीन दिवसीय कांफ्रेंस का आयोजन कर रहा है। कांफ्रेंस की थीम हिमालय से गंगा रू राष्ट्र का गौरव’ पब्लिक रिलेशन के प्रभाव से चुनौतियों को अवसर में बदलना है। इसी दौरान जनसंपर्क के क्षेत्र से संबंधित विभिन्न वर्गों में पुरस्कारों के वितरण भी किये जाऐंगे। कार्यक्रम होटल पैसिफिक, सुभाष रोड, देहरादून में आयोजित किया जा रहा है।
विमल डबराल ने बताया कि पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया एक राष्ट्रीय संगठन है जिसकी स्थापना 1958 में हुई। संगठन का उद्देश्य जनसंपर्क और संचार से आमजन के बीच मजबूत सहयोगी संबंध स्थापित करना व लक्ष्य प्राप्ति के लिए बनाई जाने वाली रणनीति को बढ़ावा देना है। पूरे देश मे संगठन के 25 चैप्टर के साथ 4 हजार से ज्यादा सदस्य जुड़े हुए हैं। यह संगठन के तरह के जनोपयोगी कार्यक्रमों को बढ़ावा देता है जिनमें मीडिया पारदर्शिता, राष्ट्रीय एकता, आतंकरोधी अभियान, मूल्य आधारित राजनैतिक संचार, सूचना का अधिकार, सबका साथ सबका विकास, स्वच्छ भारत मिशन व कैंसर के खिलाफ जागरूकता अभियान प्रमुख हैं। इस बार होने वाली कांफ्रेंस में गंगा और हिमालय के महत्व पर चर्चा की जाएगी। देश का एक वर्ग धार्मिक, आध्यात्मिक, भावात्मक, पर्यावरणीय व आर्थिक रूप से गंगा व हिमालय पर निर्भर है। यह कांफ्रेंस पब्लिक रिलेशन, संचार, मार्केटिंग आईटी और कॉरपोरेट सेक्टर के उन प्रोफेशनल्स, छात्रों के लिए शानदार अवसर है जो कि इस क्षेत्र की समस्याओं, अवसरों और नेटवर्क को लेकर अपने ज्ञान को बढ़ाना चाहते हैं। कांफ्रेंस में कम्युनिकेशन व पीआर प्रैक्टिशनर, मैनेजमेंट व मीडिया सलाहकार, केंद्र व राज्य के अधिकारी, एकेडमिक्स, एनजीओ, पीआर व मीडिया के छात्र, डिजिटल मीडिया प्रोफेशनल्स, पत्रकार व विज्ञापन विशेषज्ञ व विकास संचार प्रोफेशनल्स हिस्सा लेंगे।
कांफ्रेंस की विषयवस्तु कुछ इस तरह है-
1. हिमालयः गार्जियन ऑफ द नेचर
2. पवित्र गंगा: द लाइफ लाइन ऑफ इंडिया
3. भारतीय परंपराएं और मूल्य
4. समाज और विज्ञान
5. पर्यावरणीय चिंता
6. परंपरागत ज्ञान
7. ऊर्जा क्षेत्र में अवसर
8. टूरिज्म प्रमोशन रू चुनौतियां व अवसर
9. भविष्य में युवाओं के लिए संभावनाएं

About madan lakhera

Check Also

सूर्यधार बांध डिजाइन को आईआईटी कानपुर ने दी स्वीकृति

26 करोड़ की लागत से बनेगा बांध, अगले हफ्ते से कार्य शुरू सीएम कोठियाल डोईवाला। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *