Home / Breaking News / रुद्रपुर: आज ‘उजड़’ गया पंजाबी मार्केट

रुद्रपुर: आज ‘उजड़’ गया पंजाबी मार्केट

अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत चली जेसीबी
बुरी तरह ढहाये गए अवैध निर्माण, जमा रही भारी भीड़

रुद्रपुर। अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत गुरुवार को पंजाबी मार्केट ‘उजड़Ó गया। व्यापारियों द्वारा 15-15 फुट तक किये गये अतिक्रमण को जेसीबी ने ढहा दिया। हालांकि कुछ व्यापारियों ने अपने अतिक्रमण आंशिक रूप से पहले ही हटा लिये थे। एक एनजीओ की याचिका पर हाईकोर्ट ने रुद्रपुर मुख्य बाजार से अतिक्रमण हटाकर फुटपाथ व ग्रीन बेल्ट की जमीन खाली कराने के निर्देश दिए थे। दो साल तक नगर निगम प्रशासन इस आदेश को दबाए रहा। इसी बीच एनजीओ ने कोर्ट में अवमानना याचिका दाखिल कर दी तो कोर्ट ने जिला प्रशासन व नगर निगम को तलब किया। इसके बाद से शहर में अतिक्रमण को लेकर हो-हल्ला शुरू हुआ। दस अप्रैल से अभियान शुरू हुआ तो काफी विरोध होने लगा। इसके बाद अनिश्चितकालीन बाजार बंदी तक हुई। जिला प्रशासन ने समय दे दिया लेकिन जब व्यापारियों ने अतिक्रमण नहीं हटाया तो अब हर सप्ताह में दो दिन अभियान चलाने को टीम उतारने का निर्णय लिया गया। इसके चलते पहला गुरुवार था तो अतिक्रमण विरोधी अभियान पंजाबी मार्केट में चला। इससे पहले की मनिहारी गली में एसडीएम की फटकार के बाद व्यापारी अतिक्रमण हटा चुके थे। पंजाबी मार्केट में गुड़ मंडी की ओर से अभियान शुरू हुआ। व्यापारियों ने फिर से मोहलत मांगी लेकिन टीम ने बिना कुछ सुने जेसीबी चलवानी शुरू कर दी। मार्केट में 15 से 18 फुट तक फुटपाथ व ग्रीन बेल्ट व्यापारियों ने दबा रखी थी। जेसीबी ने सबकुछ ढहा दिया। बाहर लगे पिलर भी पल भर में तहस-नहस कर दिये गए। फर्श तक उखाड़ दिया गया। दोनों ओर से निगम ने टै्रक्टर खड़े कर आवाजाही बाधित कर दी थी। इसके बाद भी बड़ी संख्या में लोग जुटकर पंजाबी मार्केट का उजडऩा देख रहे थे।

 


पहली बार इस तरह हुई तोडफ़ोड़
बाजार से जुड़े लोगों की माने तो शहर में अतिक्रमण विरोधी अभियान 20 से ज्यादा बार चला है। लेकिन गुरुवार को जिस तरह तोडफ़ोड़ हुई है वह कभी नहीं हुई। पूरी दीवारें ढहा दी गईं। टीनशेड नेस्तनाबूद कर दिये गये। सब कुछ मलबा कर दिया गया। इसको लेकर शहर के व्यापारियों में दहशत का माहौल बन गया है।

 

 

 

दूसरों ने तेजी दिखानी शुरू की
पंजाबी मार्केट का हाल देख बाजार में खुद अतिक्रमण हटाने का काम तेज हो गया। बाजार में गुरुवार को अभियान की ही चर्चा रही। हर कोई पंजाबी मार्केट की ओर ही जा रहा था। इसके बाद अपने अतिक्रमण का चिन्हीकरण कर काम शुरू कराने पर जोर रहा।

 

 

बाजार से ठेली-फड़ वाले गायब
अभियान के चलते बाजार में लगने वाले ठेली-फड़ वाले गायब रहे। दुकानों के जिस फुटपाथ व सड़क पर फड़ सजते थे। वे भी गायब रहे। बाजार क्षेत्र में चाय, पकौड़ी, पूड़ी के ठेले न लगने से लोग परेशान रहे।

About saket aggarwal

Check Also

शहरों में सरकार के लिए दे रहे अग्निपरीक्षा

मदन मोहन लखेड़ा, देहरादून। निकाय चुनाव की जंग में आज ‘मतदान’ का दिन है। प्रदेश के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *