Home / Crime / डोईवाला पुलिस की कार्यप्रणाणी पर सवाल

डोईवाला पुलिस की कार्यप्रणाणी पर सवाल

डोईवाला/ब्यूरो। डोईवाला संयुक्त संघर्ष मोर्चे से जुड़े कार्यकर्ताओं ने कहा कि डोईवाला डिग्री कॉलेज में बीते शनिवार को दो छात्र गुटों के बीच हुई मार-पिटाई के वक्त पुलिस मूक-दर्शक बनी रही।

पुलिस के मूक-दर्शक बने रहने से मामूली विवाद मार-पिटाई तक पहुंच गया। जिसमें कई लोग घायल हो गए। कहा कि मार-पिटाई करने वाले असामाजिक तत्वों को पुलिस और राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है। इसलिए इस मामले में पुलिस पर भी कार्रवाई की जानी चाहिए। संघर्ष मोर्चे के अध्यक्ष फुरकान अहमद कुरैशी ने कहा कि डोईवाला में अवैध खनन बढता ही जा रहा है। लेकिन पुलिस और संबधित विभाग चुपचाप तमाशा देख रहे हैं। खनन माफिया के वाहनों की स्पीड से राहगीरों का जान-माल का खतरा काफी बढ गया है।

डोईवाला में माफिया द्वारा हाल ही में हरे पेड़ों का अवैध कटान भी किया है। उन्होंने उपजिलाकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजते हुए कार्रवाई की मांग की गई है। मौके पर संघर्ष मोर्चे के अध्यक्ष फुरकान अहमद कुरैशी, कुंवर जंग बहादूर सिंह राणा, जाहिद अंजुम, रेखा चौहान, रामेश्वर पांडे, आशीष यादव आदि उपस्थित रहे।

About madan lakhera

Check Also

नैनीताल: 200 वर्ष पुरानी पांडुलिपि का किया संरक्षण

हिमसाको द्वारा आयोजित 30 दिवसीय पांडुलिपि संरक्षण प्रशिक्षण कार्यशाला का समापन उत्तरांचल दीप ब्यूरो, नैनीताल। राष्ट्रीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *