Breaking News
Home / Breaking News / रामनगर में खुलेआम हो रहा अवैध खनन, वन विभाग के कर्मचारियों की भूमिका पर उठे सवाल

रामनगर में खुलेआम हो रहा अवैध खनन, वन विभाग के कर्मचारियों की भूमिका पर उठे सवाल

रामनगर। तराई पश्चिमी वन प्रभाग की रामनगर रेंज के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत के चलते ग्राम पूछड़ी और शक्तिनगर क्षेत्र में खुलेआम कुछ खनन माफिया द्वारा कोसी नदी से अवैध खनन का कारोबार युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। विभागीय कर्मचारियों की मिलीभगत के चलते हर रोज खनन माफिया सरकार को लाखों रुपये के राजस्व की हानि भी पहुंचा रहे हैं। ज्ञात रहे कि ग्राम पूछड़ी व शक्तिनगर के समीप कोसी नदी से हर रोज रात में समीप में रहने वाले लोगों द्वारा घोड़ों के माध्यम से अवैध खनन कर अपने घरों के बाहर उपखनिज का ढेर लगाया जा रहा है तथा इसी इलाके में रहने वाले करीब 50 छोटा हाथी वाहन स्वामी इन घोड़ा स्वामियों से सस्ते दामों पर उपखनिज खरीदकर अधिक मूल्यों में बेचने का धंधा इस इलाके में सुबह 4 बजे से 8 बजे तक खुलेआम किया जा रहा है। यदि विभाग के अधिकारियों को कुछ लोगों द्वारा खनन माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने की सूचना दी जाती है तो अधिकारियों द्वारा छापा मारने से पूर्व ही रेंज के कुछ संदिग्ध कर्मचारी छापामार कार्रवाई की सूचना खनन माफिया को देने के साथ ही अपने अधिकारियों को भी गुमराह कर रहे हैं तथा यह कर्मचारी खनन माफिया से महीने में खनन चोरी कराने के ऐवज में अवैध वसूली भी करते हैं। मंगलवार की सुबह भी रेंजर संतोष कुमार पंत एक सूचना पर उक्त इलाकों में कर्मचारियों को साथ लेकर छापा मारने रवाना हुये थे लेकिन टीम में शामिल कुछ कर्मचारियों द्वारा मौके पर पहुंचने से पहले ही खनन माफिया को छापामार कार्रवाई की सूचना दे दी गई। जिसके बाद मौके पर टीम तो गई लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। वहीं दिन-रात इस क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन से समीप में रहने वाले लोगों ने भी खनन माफिया के आतंक से निजात दिलाने की मांग की है। मामले में रेंजर द्वारा बताया गया कि यदि अवैध खनन में किसी कर्मचारी की भूमिका शामिल पाई गई तो मामले की जांच कराकर नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी:परिवार को सौंपा नेत्रदान का सर्टिफिकेट

हल्द्वानी। समाजसेविका कांता विनायक के अथक प्रयासों से अब तक 65 नेत्रदान हो चुके हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *