Home / Breaking News / रामनगर: ग्रामीणों ने सीतावनी जोन में सैलानियों की आवाजाही को रोका

रामनगर: ग्रामीणों ने सीतावनी जोन में सैलानियों की आवाजाही को रोका

रामनगर। मूलभूत सुविधाओं की मांग करते हुये ग्रामीणों ने सीतावनी पर्यटन जोन में सैलानियों की आवाजाही ठप कर दी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों के साथ वार्ता कर तहसीलदार द्वारा दिये गये आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने आंदोलन समाप्त किया।
रामपुर, लेटी, चोपड़ा गांव में आज भी ग्रामीण बिजली, पानी, सड़क जैसी मूलभूत जैसी सुविधाओंं महरूम हैं। कई बार भी आवाज उठाने पर ग्रामीणों को सिवाय आश्वासन के कुछ नहीं मिला। जिसके चलते ग्रामीणों में आक्रोश पनप रहा था। जिसके बाद अपने तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार इको सेंसेटिव जोन विरोधी संघर्ष समिति, टोंगिया ग्राम विकास समिति, उत्तराखण्ड वन पंचायत संघर्ष मोर्चा, समाजवादी लोकमंच, महिला एकता मंच के नेतृत्व में सैकड़ों ग्रामीण सीतावनी गेट पर पहुंच गये। जहां उन्होंने प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुये सीतावनी गेट पर कब्जा कर सैलानियों की आवाजाही ठप कर दी। सीतावनी गेट बंद किये जाने की सूचना मिलते ही मौके पर तहसीलदार प्रियंका रानी व रामनगर वन प्रभाग की कोटा रेंज के एलएन जोशी पहुंचे। जहां उन्होंने ग्रामीणों के साथ वार्ता करते हुये आश्वासन दिया कि गांव में बिजली लगवाये जाने के लिये वन व विद्युुत विभाग के अधिकारियों से वार्ता कर समस्या का हल निकाला जायेगा। इसके साथ ही गांव में सड़क बनाये जाने व इन गांवों को राजस्व गांव का दर्जा दिये जाने का प्रस्ताव शासन को भी भेजे जाने पर सहमति बनी। जिसके बाद ग्रामीणों ने प्रशासन को एक माह की मोहलत देते हुये चेतावनी दी है कि यदि इस दौरान उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो अगली बार सीतावनी जोन को अनिश्चितकाल के लिये बंद किया जायेगा। इस मौके पर ध्यानीराम, महेश चन्द्र, पनीराम, धनीराम, प्रतिभा देवी, लीला देवी, जानकी देवी, मुनीष कुमार, ललित उप्रेती, महेश जोशी, अमित कुमार, आनन्द सिंह, सरस्वती देवी सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूूद रहे।

 

About saket aggarwal

Check Also

अवैध खनन करने वालों को नहीं बख्शेंगे

एडीआरएम गुप्ता ने दिया बयान लालकुआं। अपर मंडल रेल प्रबंधक वीके गुप्ता ने कहा कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *