Home / Breaking News / केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान का 72वां स्थापना दिवस

केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान का 72वां स्थापना दिवस

रुड़की। केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान के 72वें स्थापना दिवस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास एवं अध्यक्ष शोध परिषद सीबीआरआई रुड़की के प्रो. एन राघवन ने कहा कि सिविल इंजीनियरिंग क्षेत्र में संस्थान मुकुट का हीरा है। संस्थान ने देश को अभूतपूर्व योगदान दिया है। उन्होंने संस्थान को इसी प्रकार नियमित और अत्याधुनिक परियोजनाओं द्वारा धारणीय, सुरक्षित, लागत प्रभावी और टिकाऊ भवन तकनीकों का निर्माण करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने वैज्ञानिकों का आह्वïान किया कि चुनौतियां मुंह खोले खड़ी हैं, हमें उनका सामना करने के लिए तैयार रहना हैं। आज हमें आत्म मंथन एवं आत्मनिरीक्षण करना होगा।
नयी दिल्ली से पहुंचे राष्टï्रीय आपदा प्रबंधन सदस्य कमल किशोर ने कहा कि सीबीआरआरआई ने अपने कार्यों जैसे सालारजुंग संग्रहालय के लिए अग्नि सुरक्षा उपायों, उत्तरकाशी भूकंप के बाद पुन: स्थापन हेतु केदार कुटीर आदि द्वारा संस्थान ने प्रत्येक क्षेत्र में विश्व में अपनी छाप छोड़ी है। संस्थान के निदेशक डॉ. एन गोपालकृष्णन ने यहां पहुंचे सभी अतिथियों, शिक्षकों, संस्थान के वैज्ञानिकों व छात्रों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि 72वें उत्सव पर उन्हें गर्व है कि संस्थान देश को गौरवशाली सेवाएं प्रदान कर रहा है। स्थापना दिवस अवसर पर संस्थान आम व खास लोगों के लिये खुला रहा। इस अवसर पर केंद्रीय विद्यालय एक, दो के छात्रों द्वारा द्वारा एक विज्ञान प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

 
ये प्रतिभाएं हुई सम्मानित
केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान के स्थापना दिवस पर यह प्रतिभायें समानित हई प्रकाशित सर्वश्रेष्ठ लेख के लिए हीरक जयंती, ”सिस्मि कट्रांसलेशनफेलियर एनालिसिसऑफ एमएसडब्ल्यूलैंडफिल यूसिंगमॉडिफाइडसीयूडो-डाइनैमिक एप्रोच” के लिए डा. आनिंदिया पैइन, वीएस रामकृष्ण और डॉ. एस सरकार तथा ”क्वान्टीफिकेशन एंडकैरेक्टराइजेशन ऑफ इन ब्.ै.भ् सिलिका नैनो पार्टिकलइन कोर्पोरेटे डसमेंटीशियस सिस्टम” के लिए डा. एलपी सिंह, डब्ल्यूजू, टी हूविंड और उषा शर्मा को रुपये 15,000 और एकसाईटेशन प्रदान किया गया। समाज पर सर्वाधिक प्रभाव डालने वाले सर्वोत्तम प्रौद्योगिकी के विकास हेतु हीरक जयंती निदेशक पुरूस्कार, ”डिजाइन ऑफ हाई ड्राटब्रिक किल्न” के लिए ईएस हीरालाल, डा. ऐके मिनोचा. एस मैती, डा. नीरज जैन और विवेक सूद, ”बिल्डिंग प्रोडक्ट्स यूसिंग कोटास्टोन” के लिए डा. रजनी लेखनी और राजेश कुमार, ”बोरिंग मशीन फॉरमेकिंग हॉरिजॉन्टल बोरिंग अंडर द ग्राऊंडस” के लिए डा. एसके पाणिग्रही, नरेंद्र कुमार, आरएस बिष्ट और समीर तथा ”टेक्नोलॉजी फॉर कोल ऐश युटीलाईजेशन जियो पॉलिमर कंक्रीट फॉरइन-सीटूकंस्ट्रक्शन” के लिए इश्वर्या, हुमाईरा अथर, राकेश पासवान, मो. रियाज-उर-रहमान, जीशान खान, एसके सिंह और संध्या देशवाल को रुपये 10,000 नकद पुरस्कार से नवाजा गया। इसके आलवा 50 वर्ष से अधिक की आयु वर्ग में राज्य स्तर पर खेल में उत्कृष्टता हेतु वीपीएस रावत को तथा 61-70 की आयु वर्ग में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल में उत्कृष्टता हेतु सुधीर शर्मा को सम्मान पत्र और ट्रॉफी प्रदान की गयी। इसके साथ ही सुरक्षागार्ड प्रतियोगिताओं सोशल मीडिया आदि में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालों को भी सम्मानित यिका गया।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी:कूड़ा निस्तारण न करने पर नगर निगम का पुतला फूंका

हल्द्वानी। शहर में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगने से गुस्साये लोगों ने प्रदर्शन कर नगर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *