Home / Breaking News / नैनीताल : रोटावायरस वैक्सीन बच्चों की जिंदगी को जरूरी खुराक, इसका रखें ख्याल
????????????????????????????????????

नैनीताल : रोटावायरस वैक्सीन बच्चों की जिंदगी को जरूरी खुराक, इसका रखें ख्याल

नैनीताल। जिलाधिकारी सविन बंसल ने कृमि मुक्ति दिवस एवं रोटा वायरस वैक्सीन का शुभारंभ मेजर राजेश अधिकारी राजकीय इंटर कॉलेज से किया। कृमि मुक्ति दिवस के तहत मुकुल, सचिन, साहिल, मोमिन, विशाल तिवारी, कार्तिक पंत को एल्बेंडाजोल दवा खिलाकर व दो माह के बच्चों भव्य, अफवान, शिवांश, गौरांश, दिव्यांश को रोटा वायरस ड्राप पिलाकर अभियान का शुभारंभ किया। जिलाधिकारी सविन बंसल ने कहा कि सभी नवजात बच्चों को रोटा ड्राप समय से पिलायी जाये। साथ ही उन्होंने सभी चिकित्साधिकारियों, एएनएम, आशाओं से कहा कि वह प्रत्येक एक वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को अनिवार्य रूप से कृमि मुक्ति दवा एल्बेंडाजोल अनिवार्य रूप से खिलायी जाये और कोई भी बच्चा छूटना नहीं चाहिए।
उन्होंने कहा कि एक से पांच वर्ष तक के बच्चों को आंगनबाड़ी में दवा खिलाई जाए। साथ ही छह से 19 वर्ष तक के बच्चों को स्कूल, कालेज में जाकर चिकित्सा विभाग के अधिकारियों व शिक्षकों के समक्ष खिलायी जाये। उन्होंने कहा कि दवा सुरक्षित है, दवा खाने के बाद यदि जी मचलता है या उल्टी की संभावना होती है तो घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि दवा नाश्ता करने के उपरान्त ही खिलाएं, खाली पेट कतई न खिलाएं। उन्होंने सभी अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि रोटावायरस वैक्सीन लाइव वैक्सीन है, वैक्सीन की खुराक पांच बूंदों की है जो बच्चों को नियमित टीकाकरण समय सारणी के अनुसार जन्म के छह, 10 और 14 सप्ताह में अवश्य पिलायें। सीएमओ डा. भारती राणा ने कहा कि रोटावायरस एक अत्यधिक संक्रामक वायरस है, आमतौर पर रोटावायरस एक बच्चे से दूसरे बच्चे में दूषित पानी, दूषित खान एवं दूषित हाथों के संपर्क में आने से फैलता है। वायरस कई घंटों तक बच्चों के हाथों में और अन्य सख्त सतहों पर लंबे समय तक जीवित रह सकता है। रोटा वायरस से होने वाले दस्त और अन्य दस्त के लक्षणों में कोई खास अंतर नहीं है रोटावायरस का पूरा निदान बच्चे के मल की जांच प्रयोगशाला परीक्षणों द्वारा कराया जाता है। कार्यक्रम में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. रश्मि पंत, डा. बालवीर, डा. अजय शर्मा, मदन मेहरा, दीवान बिष्ट, हेम जलाल, दिनेश बोरा, अनूप बमोला, सूरज रावत, दीपक कांडपाल, दीपक आदि उपस्थित रहे।

 

 

 

एल्बेंडाजोल दवा 3.50 लाख बच्चों को खिलाने का लक्ष्य
नैनीताल। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. भारती राणा के अनुसार जनपद में कृमि मुक्ति दिवस पर जनपद स्कूलों आंगनबाड़ी केंद्रों निजी स्कूलों में लगभग 3.50 लाख बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी। जो बच्चे आठ अगस्त को दवा खाने से छूट जाएंगे उनको मॉप-अप राउंड 16 अगस्त को दवा खिलाई जाएगी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि एल्बेंडाजोल पूरी तरह से सुरक्षित दवा है इससे किसी भी प्रकार घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि जनपद में रिस्पांस टीम का गठन किया गया है किसी भी विद्यालय आंगनबाड़ी केंद्र में अगर बच्चों को कोई तकलीफ होती है तो तुरंत मेडिकल सेवा प्रदान की जाएगी। जनपद में रोटावायरस वैक्सीन के तहत 16 हजार 800 बच्चों को वैक्सीन पिलाई जानी है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: चोर की सीसीटीवी फुटेज मौजूद, फिर भी नहीं हो रही कार्रवाई

हल्द्वानी। पुलिस चोरी की घटनाओं का खुलासा करना तो दूर मुकदमे दर्ज करना तक मुनासिब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *