Home / Breaking News / रुद्रपुर: पत्राचार से नहीं आपसी संवाद से सुलझाएं मसले

रुद्रपुर: पत्राचार से नहीं आपसी संवाद से सुलझाएं मसले

रुद्रपुर। जिलाधिकारी डा. नीरज खैरवाल ने एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में वर्ष 2017-18 में जिला योजना, राज्य योजना, केन्द्र पोषित योजना एवं बाह्य सहायतित योजना में किये गये कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा वर्ष 2017-18 में जिन योजनाओं में धनराशि व्यय नहीं हो पायी थी संबंधित अधिकारी उसका विस्तृत ब्योरा उपलब्ध करायें ताकि यह पता चल सके धनराशि किन कारणों से व्यय नहीं हो पायी। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश देते हुए कहा विभागों ने निर्माण कार्यों हेतु जो धनराशि उपलब्ध कराई है वे निर्माण कार्यों को गुणवत्तायुक्त व समयबद्धता से पूर्ण करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे योजनाओं से संबंधित सूचनाएं व डाटा एकरूपता के साथ दें। उन्होंने कहा कि गलत सूचना व डाटा देने पर संंबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने कहा विकास कार्यों को धरातल पर उतारने मे जहां समस्या आ रही है, उसे बताये ताकि उसका समाधान कराया जा सके। उन्होंने कहा अधिकारी पत्राचार तक सीमित न रहकर आपस में समन्वय बनाकर एक दूसरे से विकास कार्यों को गति देने के लिए आपस में संवाद करे। उन्होंने कहा अधिकारियों को अपने विभाग से संबंधित सभी योजनाओं व विभाग द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों की पूर्ण जानकारी होनी चाहिए। जिलाधिकारी द्वारा वर्ष 2018-19 की जिला योजना की संरचना की विस्तृत समीक्षा की गई।
मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पांडेय ने बताया वर्ष 2017-18 में जनपद की 52 करोड़ की जिला योजना के सापेक्ष 37 करोड़ की धनराशि अवमुक्त हुई थी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 हेतु जिला योजना के लिए 40 करोड़ का परिव्यय स्वीकृत किया गया है। सीडीओ ने कहा उद्यान, कृषि, पशुपालन, रेशम, मत्स्य आदि विभागों की योजनाओं को और अधिक सार्थक करने के उद्देश्य से मनरेगा के माध्यम से डफटेलिंग कराई जायेगी ताकि किसानों की आय बढ़ाई जा सके। उन्होंने कहा जिला योजना में अधिक से अधिक उन योजनाओं का चयन किया जाए जिसमे कम धनराशि खर्च कर अधिक लोगों को फायदा मिल सके। उन्होंने कहा हैंड पंपों के साथ-साथ रिचार्ज पिट भी बनाये ताकि पानी सुचारू रूप से मिलता रहे।
बैठक में सीएमओ डा. शैलजा भट्ट, पीडी हिमांशु जोशी, डीएफओ कल्याणी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी ललित चंद्र, मुख्य कृषि अधिकारी डा. अभय सक्सेना, डीडीओ अजय सिंह, सिंचाई विभाग के ईई संजय राज सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

About saket aggarwal

Check Also

मुख्यमंत्री की प्रतिष्ठा से सीधे जुड़ा दून मेयर सीट का चुनाव

मदन मोहन लखेड़ा, देहरादून। निकाय चुनाव की जंग में बीजेपी ने अपने अधिकृत प्रत्याशियों को लेकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *