Home / Breaking News / रुद्रपुर: भूकंपरोधी भवन समय की आवश्यकता

रुद्रपुर: भूकंपरोधी भवन समय की आवश्यकता

रुद्रपुर। आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग द्वारा भूकंप सुरक्षित भवन निर्माण तकनीक के महत्वों की जानकारी मजदूरों एवं राजमिस्त्रियों को उपलब्ध कराने हेतु सात दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन सुधा संस्था के सहयोग से किया जा रहा है।
प्रशिक्षण कार्यशाला में राजमिस्त्रियों को संबोधित करते हुए ओसी कलेक्ट्रेट युक्ता मिश्रा ने कहा कि भूकंप आने पर सबसे ज्यादा नुकसान लोगों की अज्ञानता व भवनों के गिरने के कारण होता है। उन्होंने प्रशिक्षण ले रहे राजमिस्त्रियों से प्रशिक्षण में सिखायी जा रही भूकंप रोधी भवन निर्माण तकनीकी की बारीकियों को गहनता से सीखकर अपने अन्य साथी मिस्त्रियों को भी सिखाने को कहा तथा इसका उपयोग करते हुए अधिक से अधिक भवन निर्माण कर लोगों को लाभान्वित करने को कहा। उन्होंने जनता से भी अपील करते हुए कहा कि जो भी मकान बनायें, वे भूकंप रोधी अवश्य हों, ताकि किसी भी भूकंप का आसानी से सामना किया जा सके। कार्यशाला में जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी डॉ.अनिल शर्मा ने बताया कि विभिन्न स्थानों पर आये भूकम्पों से हुए नुकसान के कारणों का अध्ययन करने पर ज्ञात हुआ है कि सबसे ज्यादा जन-धन की हानि भवनों के गिरने के कारण होती है। राज्य भूकम्प की दृष्टि से संवेदनशील है तथा समय-समय पर भूकम्प के झटके आते रहते हैं, जिसका संज्ञान लेने हुए शासन द्वारा भूकम्प रोधी भवन निर्माण तकनीक कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। शासन द्वारा नामित सुधा संस्था के मास्टर ट्रेनरों दलवीर सिंह, तेजपाल सिंह चौधरी, नरसिंह राणा ने भूकंप रोधी भवन निर्माण तकनीक के गुर सिखाए। सीनियर इंजीनियर राजेंद्र कुमार की निगरानी में आपातकालीन परिचालन केंद्र के पास भूकंप रोधी भवन निर्माण का स्थलीय अभ्यास भी कराया गया।

 

About saket aggarwal

Check Also

थत्यूड़: आग से गेहूं की फसल राख

थत्यूड़। जौनपुर विकासखंड में सिलवाड़ पट्टी के परोगी गांव के समीप खेत में आग लगने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *