Home / Breaking News / रुद्रपुर: योजना बंद करने से भड़के प्रेरक

रुद्रपुर: योजना बंद करने से भड़के प्रेरक

साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत कार्यरत प्रेरकों ने शिक्षा मंत्री को भेजा ज्ञापन
रुद्रपुर। साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत प्रेरकों का 19 माह का मानदेय एवं साक्षरता की अग्रिम योजना में समायोजन की मांग को लेकर प्रेरकों ने शिक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2009-2010 से साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत राज्य में लगभग छह हजार अभिकर्मी कार्यरत हैं, साक्षर भारत कार्यक्रम एक जन सहभागी एवं पंचवर्षीय कार्यक्रम है। कार्यक्रम के संचालन के दौरान लोक शिक्षा केंद्रों पर कार्यरत प्रेरकों द्वारा साक्षरता के अतिरिक्त अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रम जैसे जन-धन योजना, बाल गणना, स्वच्छता कार्यक्रम, मतदान जागरूकता एवं आधार कार्ड, समतुल्यता सर्वे आदि कार्यों को जनहित में नि:शुल्क किया गया जबकि प्रेरकों को मात्र दो हजार रुपये प्रतिमाह का बकाया 19 माह का मानदेय भुगतान भी नहीं किया गया है। समय से मानदेय न मिलने पर भी उन्होंने धैर्य के साथ सरकार द्वारा मंागी गई समस्त सूचनाओं के साथ-साथ कर्तव्यों का वहन किया है। माह जनवरी में डीएम ऊधम सिंह नगर द्वारा मांगी गई समस्त सूचनाएं उनके द्वारा दी गई हंै। जबकि शिक्षा सचिव डॉ. भूपेंद्र कौर ने इस कार्यक्रम को बंद करने का आदेश कर दिया है। जिससे सभी भुखमरी की कगार पर आ गये हैं। उन्होंने मांग की कि बकाया 19 माह का मानदेय भुगतान जल्द से जल्द कराया जाये, साथ ही साक्षरता की अग्रिम योजना में योग्यतानुसार वरिष्ठता क्रम में समायोजित किया जाए जिससे उनका भविष्य अधर से निकल सके। इस दौरान संजय चौहान, पुष्पा राठौर, जाकिर अली, ममता छाबड़ा, चरनजीत सिंह, दर्शन सिंह, उमाशंकर सेन, शिखा त्रिपाठी, मंजू, संजय प्रकाश, विनोद, लेखपाल, सोरन लाल, तुलाराम, कुंवरपाल, रोहताश सिंह, सिंपल अरोरा, अर्चना कांबोज, सत्यवती राना, दुर्गा, सीमा कुमारी, शबाना परवीन, मुकेश आदि मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: पूनम हत्याकांड के खुलासे में एसआईटी भी नाकाम

एक माह बाद भी रहस्य के घेरे में मर्डर मिस्ट्री हल्द्वानी। पूनम हत्याकांड के खुलासे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *