Breaking News
Home / Breaking News / हल्द्वानी : सद्भाव बढ़ा मतभेदों को त्यागें

हल्द्वानी : सद्भाव बढ़ा मतभेदों को त्यागें

हल्द्वानी। श्री हरिकृपा पीठाधीश्वर युवा संत स्वामी हरि चैतन्य पुरी जी महाराज ने आज यहां श्री हरिकृपा आश्रम में होलिकोत्सव के अवसर पर उपस्थित विशाल भक्त समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि युगों-युगों से मानव मात्र को प्रेम, एकता व सद्भाव का दिव्य संदेश होली का पावन पर्व देता आ रहा है। होली नास्तिकता पर आस्तिकता की विजय का पर्व है इसलिए होली ने सामाजिक त्योहार के साथ-साथ आज राष्ट्रीय त्योहार की मान्यता भी प्राप्त कर ली है। यह बसंत गमन के साथ-साथ आमोद प्रमोद तो लेकर आता ही है साथ ही भारतीयों के लिए सदाचार और न्यायपूर्ण जीवन का संदेश भी लाता है। होलिका दहन के साथ एक चेतावनी भी लाता है कि अन्याय के दुष्परिणाम भुगतने पड़ते हैं। उन्होंने कहा कि समस्त संसार भी चाहे शत्रु क्यों न हो जाएं लेकिन पुण्यात्मा हरि भक्त का कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता। इतिहास साक्षी है कि मिथ्या अहंकार में डूबे हिरण्यकश्यप ने स्वयं अपने ही पुत्र प्रह्लाद पर कितने निर्मम अत्याचार किए जिसका अपराध शायद मात्र इतना था कि उसने परमात्मा का नाम लेना नहीं छोड़ा।
महाराज ने कहा कि दृढ़ विश्वास व सत्य स्नेह परिपूर्ण भक्ति हो तो कोई बाधा दीर्घकाल तक नहीं टिक सकती। इतिहास को उठाकर देखो, वरदान या कवच प्राप्त होलिका भी जल गई लेकिन प्रहलाद पर आंच भी नहीं आयी।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर : पाश्चात्य संस्कृति से भिड़ी भारतीय संस्कृति

रुद्रपुर। पाश्चात्य सभ्यता की नुमाइश कर रही एक महिला की तारीफ करना भारतीय सभ्यता की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *