Home / Breaking News / सीजन के सबसे घने कोहरे की आगोश में तराई
प्रतीकात्मक फोटो

सीजन के सबसे घने कोहरे की आगोश में तराई

रुद्रपुर। दो दिन की चटकदार धूप के बाद मंगलवार को मौसम ने फिर से पलटी मारी। सीजन के सबसे घने कोहरे की आगोश में पूरा तराई घिर गया। सुबह आठ बजे तक शून्य विजिबिलिटी रही। दोपहर को भी सुबह जैसा अहसास होता रहा।
नए साल की शुरुआत से ठंड कहर ढा रही है। दो दिन से चटकदार धूप से राहत मिल रही थी। उम्मीद थी कि मकर संक्रांति के बाद मौसम खुल जाएगा। संक्रांति के दिन खिली धूप से इसका अहसास होना भी शुरू हो गया लेकिन मंगलवार को मौसम ने ऐसी पलटी मारी कि एक बार फिर से ठंड बढ़ गई। मंगलवार तडक़े से घना कोहरा छाने लगा। पौ फटते-फटते कोहरा इतना घना हो गया कि इस सीजन के सारे रिकार्ड टूट गए। मंगलवार का कोहरा इस सीजन का सबसे घना कोहरा बताया जा रहा है। दोपहर तक भी हाईवे पर छोड़ो घनी आबादी में कोहरा छाया रहा। हाईवे पर तो दोपहर 12बजे भी दो सौ मीटर से ज्यादा की दृश्यता नहीं थी। हालात इतने खराब थे कि लोग ठिठुर गए। सुबह ड्यूटी पर पहुंचने वालों के लिए तो मानो पहाड़ टूट गया हो। दोपहिया वाहन चालकों के लिए तो कोहरा मुसीबत बन गया। साथ ही साइकिल सवारों के लिए तो हादसों की संभावनाएं बढ़ गई। लोग ऊपर वाले का नाम लेकर अपने-अपने कार्यस्थलों पर पहुंचे। बाजार भी देर से खुले। दोपहर तक बाजारों में चहल पहल भी नहीं दिखी।

स्कूली बच्चों की फिर आफत

विंटर वेकेशन के बाद तकरीबन सभी स्कूल मंगलवार को खुलने थे लेकिन मौसम की इस बदमिजाजी से बच्चे ठंड से सिहर गए। ज्यादातर अभिभावकों ने घना कोहरा देखकर अपने बच्चों को स्कूल न भेजना ही मुनासिब समझा। इसके चलते स्कूलों में मंगलवार को उपस्थिति बेहद कम रही। चूंकि सोमवार को चटकदार धूप थी इसके चलते विंटर वेकेशन बढ़ाने में अफसरों ने दिलचस्पी नहीं दिखाई। लेकिन मंगलवार को मौसम के बदले मिजाज से विंटर वेकेशन बढऩे की संभावनाएं बढ़ गई हैं। खासकर कक्षा आठ तक के बच्चों के लिए स्कूल बंद हो सकते हैं।

About saket aggarwal

Check Also

तिवारी का अंतिम संस्कार कल, पुलिस मुस्तैद

हल्द्वानी। पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी के अन्तिम दर्शन/अन्तेष्टि हेतु सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *