Home / Uncategorized / अल्मोड़ा : नाश्ते के बाद शिशु सदन के 8 बच्चों को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल भर्ती

अल्मोड़ा : नाश्ते के बाद शिशु सदन के 8 बच्चों को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल भर्ती

अल्मोड़ा। यहां एडम्स इंटर कालेज मंे प्राइमरी कक्षाओं में पढ़ने वाले राजकीय बाल शिशु सदन के 8 बच्चों की शुक्रवार सुबह अचानक फूड प्वाइजिनिंग से तबियत बिगड़ गयी और वह विद्यालय परिसर में उल्टी करने लग गये। एक साथ इतने बच्चों की यह हालत देख विद्यालय प्रशासन के हाथ-पांव फूल गये और उन्हें आनन-फानन में जिला अस्पताल भर्ती किया गया। जहां चित्सिकों की टीम उनका उपचार कर रही है।
उल्लेखनीय है कि राजकीय बाल शिशु सदन में कक्षा एक से पांच तक के कुल 19 बच्चे हैं, जिनमें से 15 का दाखिला एडम्स इंटर कालेज अल्मोड़ा में कराया गया है। इन सभी यतीम बच्चों की देखभाल शिशु सदन में की जाती है तथा वहीं इनके रहने-खाने की व्यवस्था है। शुक्रवार सुबह करीब 8.15 से 8.30 के बीच सभी बच्चों को नित्य की तरह ब्रेड-जैम और चना नाश्ते में दिया गया। नाश्ता करते ही सभी 15 बच्चे एडम्स इंटर कालेज रवाना हो गये। विद्यालय में सुबह करीब 9.30 बजे बच्चे सर चकराने और घबराहट की शिकायत करने लगे। एक के बाद एक बच्चों को उल्टियां भी शुरू हो गई। यह देखकर विद्यालय प्रशासन में हड़कंप मच गया। स्कूल की शिक्षिकाओं द्वारा तत्काल वाहन की व्यवस्था कर (करीब सुबह 10.30 बजे) सभी बीमार बच्चों को जिला अस्पताल लाया गया। इस बीच यह सूचना पुलिस और प्रशासन को दी गई। कोतवाली पुलिस ने आकर मामले की तहकीकात की। अस्पताल भर्ती किये गये बच्चों में साबरी (9), ममता (8), शिवानी (8), प्रियांशी (7), बबीता (9), रीना (9), रूबी (7) व शीतल (8) शामिल हैं। यह सभी बच्चे कक्षा तीन, चार और पांच में पढ़ते हैं। चिकित्सकों ने बताया कि यह सभी बच्चे फूड प्वाइजिनिंग का शिकार हुए हैं। उन्होंने बताया कि समय पर उपचार हो जाने के कारण सभी की हालत खतरे से बाहर है।
अस्पताल प्रशासन ने समय पर शुरू कर दिया उपचार: सीएमस
अल्मोड़ा। सीएमएस डाॅ. प्रकाश वर्मा ने बताया कि फूल प्वाइजनिंग का शिकार हुए सभी बच्चों का चिकित्सकों ने समय पर उपचार शुरू कर दिया था। वह स्वयं चिकित्सकों के साथ रहे। अब सभी बच्चे खतरे से बाहर हैं और उन्हें पूरी तरह स्वस्थ हो जाने के बाद डिस्चार्ज कर दिया जायेगा।
शिशु सदन से एडम्स पहुंचने पर हुई शिकायत: उपाध्याय
अल्मोड़ा। राजकीय बाल शिशु सदन की अधीक्षिका मंजू उपाध्याय ने मीडिया के सवालों पर बताया कि शिशु सदन में रहे सभी बच्चों को नित्य की तरह ब्रेड-जैम व चना खाने का दिया गया था। सभी बच्चों ने यही भोजन किया, लेकिन पता नहीं किस कारण से इनमें से कुछ बच्चों को यह तकलीफ महसूस हुई। उन्होंने बताया कि शिशु सदन से नाश्ता कर बच्चे एडम्स विद्यालय के लिए चले गये। तब वहां से फोन आया कि कुछ बच्चे उल्टियां कर रहे हैं।
बच्चों को कदापी ना दें एक्सपायरी, बासी भोजन: डीएम
अल्मोड़ा। जिलाधिकारी इवा आशीष, एसडीएम विवेक राॅय ने अस्पताल पहुंच कर बीमार बच्चों का हाल जाना। डीएम ने इस संबंध में चिकित्सकों से बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में आवश्यक जानकारी ली। साथ ही सख्त निर्देश दिये कि शिशु सदन में बच्चों को परोसे जाने वाले भोजन पर विशेष ध्यान दें। एक्सपायरी आइटम कदापी नहीं रखें। उन्होंने कहा कि जिस भोजन को खाने से बच्चे बीमार पड़े उसे अब किसी अन्य बच्चे को खाने को ना दें और तुरंत नष्ट कर दें।
शुक्रवार को चुस्त-दुरूस्त दिखा जिला प्रशासन व अस्पताल
अल्मोड़ा। गत दिवस अल्मोड़ा मंे हुई दो दुर्घटनाआंे के बाद जिला प्रशासन व अस्पताल की छिछालेदार के बाद शुक्रवार को प्रशासन काफी चैकस दिखाई दिया। पुलिस विभाग के अलावा प्रशासन के आला अधिकारी जहां सूचना मिलते ही अस्पताल पहुंच गये, वहीं अस्पताल के सभी चिकित्सक भी बच्चों के उपचार में जुटे दिखाई दिये। ज्ञात रहे कि बृहस्पतिवार को मरीजों के उपचार में हुई लापरवाही के लिए लोगों की जिला प्रशासन व अस्पताल की व्यवस्थाओं को लेकर सख्त नाराजगी थी।

About saket aggarwal

Check Also

केशवपुरी के लोगों को लुभा गए मनोज तिवारी

डोईवाला के विकास को चाहिए ट्रिपल इंजन की सरकार डोईवाला/ब्यूरो। डोईवाला के केशवपुरी मैदान में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *