Breaking News
Home / Breaking News / शोभायात्रा में जीवंत हुए कुमाऊंनी संस्कृति के विविध रंग

शोभायात्रा में जीवंत हुए कुमाऊंनी संस्कृति के विविध रंग

हल्द्वानी। उत्तराखंड के पारंपरिक घुघुतिया त्यार के मौके पर शहर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में शामिल आकर्षक झांकियों ने कुमाऊंनी संस्कृति को जीवंत कर दिया। इस मौके पर कलाकारों ने जहां छोलिया नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी वहीं महिलाओं ने सजधज कर पर्वतीय संस्कृति को समेटे झोड़ा नृत्य भी प्रदर्शित किया।
पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच की ओर से सोमवार को कुमाऊंनी संस्कृति से जुड़ी विरासत व संदेशों से सुसज्जित भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में शामिल झांकियां उत्तराखंड की पारंपरिक विरासत को संजोकर रखने का संदेश भी दे गई। शोभायात्रा में ईष्ट देवता गोलू के मंदिर की झांकी के अलावा पर्यावरण जागरूकता, बैसी (जागर की एक विधा) के बाद देवता स्नान की झांकी तथा गंगोत्री, यमुनोत्री, जागेश्वर, बद्रीनाथ, केदारनाथ, जोहार संस्कृति आदि झांकियां आकर्षण का केंद्र बनी रहीं। शोभायात्रा में शहर व आसपास के क्षेत्रों से भी पहुंची झांकियां शामिल रहीं। शोभायात्रा हीरानगर उत्थान मंच से प्रारंभ होकर कालाढूंगी रोड, नैनीताल रोड, तिकोनिया, वर्कशॉप लाइन, रेलवे बाजार, मंगलपड़ाव, सिंधी चौराहा होते हुए वापस हीरानगर पहुंचेगी।

 

 
स्वागत के लिए जगह-जगह लगाये स्टॉल
हल्द्वानी। शोभायात्रा के स्वागत के लिए शहर में जगह-जगह व्यापारिक, सामाजिक समेत तमाम संगठनों की ओर से स्टॉल लगाये गये थे। इन स्टॉलों के जरिए शोभायात्रा में शामिल लोगों को पानी, चाय वितरण के साथ ही फल, मिष्ठान आदि का वितरण किया गया। महानगर टैंट व्यापार एसोसिएशन, हिंदू महासभा के साथ ही पर्वतीय समाज के लोगों की ओर से कोतवाली के आगे, नगर निगम के पास, तिकोनिया आदि क्षेत्रों में स्टॉल लगाये गये थे। इस मौके पर टेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष हर्षवर्धन पांडे, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मयंक भट्ट, समाजसेवी अजय शाह, प्रशांत अग्रवाल, हेम जोशी समेत तमाम लोग मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

देहरादून: शाह की ‘क्लास’ के लिए कड़ा होमवर्क

मदन मोहन लखेड़ा,देहरादून। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का दो फरवरी को दून का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *