Breaking News
Home / Breaking News / पांच करोड़ से होगा नैनी झील के साथ ही सूखाताल का संरक्षण

पांच करोड़ से होगा नैनी झील के साथ ही सूखाताल का संरक्षण

उत्तरांचल दीप ब्यूरो, नैनीताल। आयुक्त कुमाऊं मंडल राजीव रौतेला ने हिल सैफ्टी कमेटी की बैठक लेते हुए बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा नैनी झील के साथ ही सूखाताल के संरक्षण एवं विकास के लिए पांच करोड़ की धनराशि स्वीकृत कर दी गयी है। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता सिंचाई हरीश चन्द्र भारती को निर्देश दिये कि सूखाताल और नैनी झील के संवर्धन के लिए जो भी प्रस्ताव तैयार करें, उसमें शहर के वरिष्ठ नागरिकों, पर्यावरणविदों आदि के साथ भी विचार-विमर्श कर, उनके विचारों एवं अनुभवों को भी शामिल किया जाये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि झील में आने वाले सभी नालों में तत्काल जालियां लगायी जायें तथा झील के पानी की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए एसटीपी स्थापित कराये जाने की कार्य योजना को तत्काल मूर्त रूप दिया जाये। उन्होंने लोनिवि के अधिकारियों से कहा कि वह नन्दा देवी मेले में लग रही दुकानों का भी सत्यापन करें ताकि ज्यादा भार वाली चीजें मेले में नहीं लगने पायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि मस्जिद तिराहे से राजभवन जाने वाली सडक़ का भी सर्वे कर लिया जाये। यदि सडक़ कहीं पर क्षतिग्रस्त हो तो मरम्मत भी कर ली जाये। बैठक में पर्यावरणविद प्रो. अजय रावत, प्रो. चारु पंत, वरिष्ठ नागरिक राजीव लोचन साह, सुदर्शन साह, डीएन भट्ट के अलावा आलोक शाह तथा गोपाल सिंह रावत ने भी अनेकों सुझाव दिये। इस बैैठक में अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी टीआर बीजू लाल, अधिशासी अभियंता पेयजल निगम जीएस तोमर, बीसी पाल आदि मौजूद थे।

 

 

 

झील में कूड़ा डालने वालों पर कसें नकेल
नैनीताल। आयुक्त कुमाऊं मण्डल राजीव रौतेला ने कहा कि नैनीताल की खूबसूरती बढ़ाने वाली झील को संरक्षित एवं प्रदूषण रहित रखना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि झील के प्रति हम असंवेदनशील होते जा रहे हैं। सूर्यास्त के बाद चोरी छुपे झील में कूड़ा कचरा और घर का निष्प्रयोज्य सामान डाल देते हैं। ऐसे में नैनी झील इस तरीके की गन्दगी से पटने लगी है, जिससे उसकी गहराई पर भी असर पडऩे लगा है। उन्होंने कहा कि नैनी झील जहां पर्यटन का केन्द्र है, वहीं प्रदेश की आन, बान, शान का प्रतीक भी है। कहा कि नैनी झील में कूड़-कचरा डालने पर आर्थिक दंड का प्रावधान है। बावजूद इसके हम लोग चोरी छुपे कूड़ा कचरा डालने में नहीं चूक रहे हैं। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि ऐसे लोगों को रंगे हाथों पकडऩे के लिए झील के चारों ओर सीसीटीवी कैमरे लगाये जायें तथा ट्रेप होने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लायी जाये। उन्होंने कहा कि झील के अस्तित्व को बरकरार रखने के लिए प्रशासनिक प्रयासों के साथ ही जन सहयोग जरूरी है।

 

 

 

झील के चार स्थानों पर लगाये जायेंगे एसटीपी
नैनीताल। आयुक्त ने बताया कि झील के चारों ओर चार स्थानों कैपिटल सिनेमा, मेट्रोपोल होटल, स्टैट बैंक के पास, रैमजे अस्पताल के समीप सीवर ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किये जायेंगे। एसटीपी से सीवर के पानी को साफ कर उसे झील में प्रवाहित किया जायेगा। जो खाद बनेगी उसका बागवानी व खेती के लिए उपयोग किया जायेगा। आयुक्त ने कहा कि क्षतिग्रस्त लोअर माल रोड का सर्वे करने के लिए शासन से विशेषज्ञों की टीम जल्दी आने वाली है। टीम के वैज्ञानिकों का संवाद शहर के गणमान्य व्यक्तियों, भू-वैज्ञानिकों से भी अवश्य कराया जाये। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता लोनिवि चन्दन सिंह नेगी से कहा कि लोअर माल रोड की मरम्मत की गति को बढ़ाया।

About saket aggarwal

Check Also

गन्ना कमीशन का 92 लाख भुगतान नहीं होने पर हड़ताल पर गए कर्मचारी

डोईवाला/ब्यूरो। सहकारी विकास समिति डोईवाला से जुड़े कर्मचारी लंबित वेतन भुगतान, एरियर भुगतान, ग्रेच्युटी व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *