Breaking News
Home / Breaking News / टेलर ने की यूजीसी नेट की परीक्षा पास
राजेन्द्र बोरा

टेलर ने की यूजीसी नेट की परीक्षा पास

बेरीनाग। गरीबी मेहनत में कभी आड़े नही आती है। इससे सच कर दिखाया ब्लॉक के पुडियाग गांव के राजेन्द्र बोरा ने। राजेन्द्र ने इतिहास विषय से यूजीसी नेट की परीक्षा पास की है।
गढ़तिर पुडियाग गांव के राजेन्द्र के घर की आर्थिक स्थिति दयनीय होने बावजूद गरीबी को आड़े नहीं आने दिया। पिता स्व. राम सिंह मजदूर थे। घर में कोई अन्य सदस्य रोजगार में नहीं था। बचपन से पढ़ाई में मेधावी राजेन्द्र ने बताया कि हाईस्कूल परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने मजदूरी के साथ पढ़ाई जारी रखी। 2012 में बेरीनाग महाविद्यालय से एमए इतिहास में कालेज टाप करने के साथ कुमाऊं विश्वविद्यालय में तीसरे स्थान पर रहे थे। उन्होंने परिवार के लालन-पालन के लिए पुराने बाजार में एक टेलर और पेंटिग की दुकान खोली है। राजेन्द्र ने बताया कि उसने दिल्ली,मुंबई आदि शहरों में होटलों और कोठियों में स्वच्छक तक का काम किया है। राजेन्द्र ने बताया कि वह इतिहास विषय से पीएचडी और पीसीएस की तैयारी कर रहा है। उन्होंने अपनी अपनी सफलता का श्रेय अपनी मां बसंती देवी, पिता स्व. राम सिंह, पत्नी पुष्पा बोरा, पूर्व प्रधानाचार्य भगवती प्रसाद जोशी, कपकोट महाविद्यालय के प्राचार्य डा.एके जोशी को दिया है। उनके नेट में उत्तीर्ण होने पर विधायक मीना गंगोला, ब्लॉक प्रमुख रेखा भंडारी, व्यापार संघ अध्यक्ष ललित महरा, पूर्व विधायक नारायण राम आर्य, विक्रम धानिक, बलंवत धानिक, हेम पंत, भाष्कर पंत, जीवन धानिक आदि ने बधाई दी है।

गुरु की नसीहत मन को भा गई
बेरीनाग। राजेन्द्र बोरा ने बताया कि उसके शिक्षक पूर्व प्रधानाचार्य भगवती प्रसाद जोशी के घर में दो दशक पूर्व मजदूरी करने के दौरान उन्होंने कहा था कि मैं आपको मजदूर नहीं अध्यापक के रूप में देखना चाहता हूं। गुरु की यह नसीहत मेरे मन को भा गई। बोरा ने कहा कि मैनें उन्हें काबिल बनकर दिखाने की बात कही जो अब जाकर सच साबित हुई। राजेन्द्र रामलीला के विभिन्न पात्रों की भूमिका भी निभाता है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी:परिवार को सौंपा नेत्रदान का सर्टिफिकेट

हल्द्वानी। समाजसेविका कांता विनायक के अथक प्रयासों से अब तक 65 नेत्रदान हो चुके हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *