Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / केदारधाम में 16 किमी पैदल चले पर्यटन सचिव

केदारधाम में 16 किमी पैदल चले पर्यटन सचिव

मार्गीय सुविधाओं विकास की योजनाओं का लिया जायजा
सुगम व सुरक्षित यात्रा पर दिया जोर
देहरादून। राज्य के सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने केदारनाथ धाम में मार्गीय सुविधा विकास संबंधित विभिन्न योजनाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने करीब 16 किलोमीटर की दूरी पैदल तय कर संबंधित अधिकारियों से कार्य की प्रगति का जायजा लिया। उन्होंने यात्रा को सुगम तथा सुरक्षित बनाए जाने के विषय पर विस्तृत चर्चा की तथा जरूरी दिशा निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही यात्रा मार्ग पर स्थित अस्थाई शौचालयों का स्थान स्थाई शौचालय ले लेंगे जिससे पर्यटकों को स्वच्छता के बेहतर इंतजाम उपलब्ध कराए जा सकेंगे।

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर

भ्रमण के दौरान पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने प्रधानमंत्री के निर्देशन में संचालित हो रही विभिन्न योजनाओं का मूल्यांकन किया। उन्होंने बताया कि केदारनाथ की ओर जाने वाली एप्रोच रोड तथा परिसर विस्तारीकरण का कार्य पूरा कर लिया गया है। जबकि सितंबर माह के अंत तक प्लाजा के निर्माण कार्य के संपन्न करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग को भैरवनाथ पुल तथा गरुड़चट्टी पर बनने वाले पुल के लिए लगभग आठ करोड़ का एस्टीमेट तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं।
उन्होंने बताया कि यात्रा मार्ग में स्वच्छता तथा शौचालय की सुविधा को और अधिक सुदृढ़ करने के उद्देश्य से सुलभ इंटरनेशनल को निर्देशित किया गया है कि भविष्य में अस्थाई शौचालय के स्थान पर स्थाई शौचालयों का निर्माण किया जाएगा। इस संबंध में जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग को विभिन्न स्थानों का चिन्हीकरण कर प्रस्ताव शासन को प्रेषित करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने अवगत कराया कि मार्ग पर चल रहे खच्चरों की देखभाल के लिए पशुपालन विभाग द्वारा किए जा रहे कार्य संतोषजनक नहीं थे। इस संबंध में पशुपालन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वह यथाशीघ्र खच्चरों की उचित देखभाल के लिए आवश्यक प्रबंध करें। केदारनाथ मार्ग पर स्थानीय व्यापारियों द्वारा किए जा रहे अतिक्रमण पर उन्होंने रोष प्रकट किया और इस संबंध में स्थानीय उपजिलाधिकारी तथा थानाध्यक्ष को यह निर्देश दिए कि वह सरकारी परिसंपत्तियों पर होने वाले किसी भी अतिक्रमण को हटाने के लिए तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करें। गौरीकुंड में तप्त कुंड के रखरखाव के लिए गढ़वाल मंडल विकास निगम को डीपीआर तैयार कर शीघ्र कार्य शुरू करने के निर्देश दिए गए, साथ ही तप्तकुंड तक एक स्वतंत्र मार्ग के निर्माण के विषय में भी निर्देश दिए गए। निरीक्षण भ्रमण के दौरान उनके साथ जिला अधिकारी रुद्रप्रयाग मंगेश घिल्डियाल, वरिष्ठ अभियंता लोक निर्माण विभाग, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग, व्यापार संघ के प्रतिनिधि तथा अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

About madan lakhera

Check Also

16608 शिक्षकों की दूर होगी पीड़ा

राज्य के विशिष्ट बीटीसी अध्यापकों को मिलेगी राहत सांसद बलूनी का प्रदेश को एक और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *