Home / Breaking News / उत्तराखंड समेत 6 राज्यों के 75 जिलों में चलेगा पॉयलट प्रोजेक्ट

उत्तराखंड समेत 6 राज्यों के 75 जिलों में चलेगा पॉयलट प्रोजेक्ट

कौशल विकास का नेशनल फैलोशिप प्रोग्राम का लॉन्च

देहरादून। जिला स्तर पर कौशल विकास को बढ़ावा देने के प्रयास में कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय ने दो वर्षीय फैलोशिप प्रोग्राम, महात्मा गांधी नेशनल फैलोशिप प्रोग्राम लॉन्च किया है। इस प्रोग्राम के लिए मंत्रालय ने इंडियन इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेन्ट (आईआईएम) बैंगलोर के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं।
यह फैलोशिप प्रोग्राम राष्टï्रीय, राज्य एवं जिला स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों के संचालन एवं कार्यान्वयन में कर्मचारियों की अनुपलब्धता की समस्या को हल करने में मदद करेगा। एमजीएनएफ प्रोग्राम में जिला प्रशासन के साथ मूलभूत व्यवहारिक अनुभव का इन-बिल्ट अवयव शामिल है। गुजरात, कर्नाटक, मेघालय, राजस्थान, उत्तरप्रदेश और उत्तराखण्ड के 75 जिलों में पायलट आधार पर लॉन्च किए गए इस प्रोग्राम के लिए योग्य फैलोज की उम्र 21-30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। उनके पास किसी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए और साथ ही उनके लिए भारत का नागरिक होना भी जरूरी है। इसके अलावा फील्ड वर्क में आधिकारिक भाषा की दक्षता भी अनिवार्य है।
डॉ केपी कृष्णन, सचिव, कौशल विकास एवं उद्यमशीलता के अनुसार देश में अभी ऐसे उम्मीदवारों की कमी है जो मूलभूत स्तर पर कौशल विकास प्रोग्रामों के प्रबंधन एवं संचालन में योगदान दे सकें। आईआईएम बैंगलोर के साथ इस फैलोशिप के माध्यम से हमने इसी समस्या को हल करने का प्रयास किया है। प्रशिक्षण के दौरान फैलोज को राज्य कौशल विकास मिशन के तहत काम करने का मौका मिलेगा, वे जिला स्तर पर मौजूद खामियों और चुनौतियों को दूर करने में योगदान दे सकेंगे। फेलोज को पहले साल में 50000 रुपए का भत्ता तथा दूसरे साल में 60,000 रुपये का भत्ता दिया जाएगा। पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद उन्हें आईआईएम बैंगलोर की ओर से पब्लिक पालिसी एंड मैनेजमेंट में प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा।

About saket aggarwal

Check Also

आईपीएल से पहले कुमाऊं के क्रिकेटर अवनीश को मुंबई इंडियंस का बुलावा

टीम चयन के ट्रायल में हिस्सा लेगा काशीपुर का युवा हल्द्वानी। उत्तराखंड में क्रिकेट में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *