Home / Breaking News / उर्गम जल विद्युत प्रोजेक्ट में फिर शुरु होगा उत्पादन

उर्गम जल विद्युत प्रोजेक्ट में फिर शुरु होगा उत्पादन

सीएम ने किया पुनर्निमित परियोजना का लोकार्पण
2013 की आपदा में पहुंची थी भारी क्षति
चमोली/देहरादून। सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कल्पगंगा नदी पर उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम द्वारा निर्मित 3 हजार किलोवाट की उर्गम जल विद्युत परियोजना का लोकार्पण किया। सीएम त्रिवेन्द्र पीपलकोटी से सड़क मार्ग से हेलंग पहुॅचे तथा अलकनंदा की सहायक कल्पगंगा नदी पर पुनर्निर्मित इस जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने कहा कि कल्पगंगा नदी पर बनी यह परियोजना पर्वतीय क्षेत्र के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। परियोजना में उत्पादित विद्युत से जहां भरकी, भेटा, उर्गम, चाई-थाई, सलना, जोशीमठ, बडगांव सहित समीपवर्ती क्षेत्रों के लगभग 25 गांवों की विद्युत आपूर्ति में सुधार होगा वही स्थानीय बेरोजगार युवकों को इस परियोजना से रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लघु जल विद्युत परियोजनाओं की आपार सम्भावनाएं है। जून 2013 की आपदा में क्षतिग्रस्त उर्गम जल विद्युत परियोजना के पुनर्निर्माण के लिए उत्तराखंड सरकार ने 13.05 करोड़ की धनराशि उपलब्ध करायी थी। आपदा के दौरान बाढ़ से इस परियोजना का हेड वक्र्स, पावर डक्ट, विद्युत गृह, टीआरसी तथा लगभग 100 मीटर शक्तिनहर क्षतिग्रस्त होने के कारण विद्युत उत्पादन बन्द हो गया था। सीएम त्रिवेन्द्र ने पीपलकोटी में स्वामी विवेकानंद चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा संचालित चिकित्सालय का भी अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा तथा स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने मेें यह चिकित्सालय लाभकारी साबित होगा। मुख्यमंत्री ने पीपलकोटी में चल रहे सेना भर्ती पूर्व प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षणार्थियों से भी भेंट की तथा उनका मनोबल बढ़ाया। इस अवसर पर बद्रीनाथ के विधायक महेन्द्र भट्ट, ऊर्जा सचिव राधिका झा, नगर पालिका अध्यक्ष जोशीमठ रोहिणी रावत, महाप्रबन्धक जल विद्युत निगम अजय पटेल सहित जनप्रतिनिधि एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

छात्रों ने ली भोजन बरबाद न करने की शपथ

देवभूमि संस्थान में विश्व खाद्य दिवस पर हुआ कार्यक्रम छात्रों ने स्वादिष्ट व्यंजनों की खुशबू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *