Home / Breaking News / हरिद्वार: वन विभाग में लेपर्ड पर सियासत, डायरेक्टर ने की पद छोडऩे की सिफारिश

हरिद्वार: वन विभाग में लेपर्ड पर सियासत, डायरेक्टर ने की पद छोडऩे की सिफारिश

राजाजी के हरिद्वार रेंज में खाल और हड्डी मामले में जांच महकमे के दो बड़े अफसरों के धड़ों में बंटा
प्रमुख वन संरक्षक और प्रमुख वन संरक्षक वन्य जीव दो धड़ों में दिख रहे-जांच हो रही इससे प्रभावित, विभाग में धड़ेबाजी का मामला खुलकर आ रहा सामने
नवीन पाण्डेय, हरिद्वार।  राजाजी टाइगर रिज़र्व के हरिद्वार रेंज में मिले वन्य जीवों की खाल और हड्डियों के मामले की जांच और कोर्ट में पैरवी को लेकर वन विभाग के बड़े अफसर ही आपस में आमने-सामने हो गए हैं। प्रमुख वन संरक्षक ने मामले की जांच वन संरक्षक स्तर के अधिकारी को देकर फिलहाल जांच कर रहे जांच अधिकारी के जांच पर रोक लगा दी है। जिसे लेकर विभाग में ही घमासान मच गया है। वहीं, सूत्रों की माने तो मामले में विभागीय घमासान से खिन्न होकर राजाजी टाइगर रिज़र्व के डायरेक्टर ने पद से हटने की अपनी ओर से सिफारिश का मन बना लिया है। विभाग में यह पहला अवसर होगा जब इस मुद्दे पर विभाग के बड़े अफसर आमने-सामने हैं।
राजाजी टाइगर रिज़र्व के हरिद्वार रेंज में कुछ समय पहले खाल और हड्डियां बरामद हुई। जिसमें प्रमुख वन संरक्षक डी बीएस खाती ने मामले का संज्ञान लेकर जांच शुरू कराई और इसमें एक डिप्टी रेंजर सहित कुछ लोगों की भूमिका की जांच बैठा दी। इसमें उन्होंने साजिश की ओर इशारा भी किया तो वहीं पलटवार करते हुए वन महकमे के मुखिया प्रमुख वन संरक्षक जयराज ने अपने स्तर पर जांच बैठा दी। इस दौरान आरोपियों की राजाजी की टीम ने गिरफ़्तार भी किया। बयान भी लिया गया। जिसने बयान देने वाले ने साजिश की बात कही। लेकिन मामले में आपस में उलझे वन विभाग प्रमुख जयराज ने जांच अधिकारी की जांच पर रोक लगा कर वन संरक्षक को जांच सौंप दी। जिससे यह संदेश गया कि मामले में दो बड़े धड़े वन विभाग में खुले तौर पर बन गया है।

 

 

पहली बार नाटकीय ढंग से किया सरेंडर
हरिद्वार: राजाजी टाइगर रिज़र्व की टीम के हरिद्वार और देहरादून में लगातार दबिश से घबराये दो आरोपियों ने देहरादून की अदालत में नाटकीय ढंग से सरेंडर कर दिया। 2 मई को दो आरोपियों ने साड़ी पहनकर सरेंडर किया। अदालत ने कल दोनों आरोपियों की जमानत भी खारिज कर दी। यह पहला वाकया होगा जब वन विभाग की डर से आरोपियों बने इस तरीके से सरेंडर किया होगा। हालांकि एक आरोपी अभी फरार है।

 

खिन्न डायरेक्टर ने पद छोडऩे का मन बनाया
हरिद्वार: मामले में बड़े विभागीय अफसरों के बीच धड़े बाजी से आहत होकर राजाजी टाइगर रिज़र्व के डायरेक्टर सनातन सोनकर ने खुद डायरेक्टर पद से हटने की सिफारिश का मन बना लिया है। सूत्रों की माने तो हरिद्वार रेंज के मामले में जांच में अड़ंगा डाला जा रहा है। जांच अधिकारी को जांच से रोका जा रहा है। बयान जारी कर दबाव में बयान लेने जैसी बातें कहीं जा रही है। उस अफसर को जांच दी जा रही है जो रोज छापेमारी नहीं कर सकता। विभाग में शून्यता की स्थिति बनी हुई है। इन सब बातों से खफा निदेशक ने पद से हटने का मन बना लिया है। वहीं, राजाजी के डायरेक्टर सनातन सोनकर ने मामले में कुछ भी कहने से इनकार किया। इतना कहा कि ईमानदारी से जांच पर आंच डाली जा रही है।

About saket aggarwal

Check Also

देशभक्ति नारे से गुंजायमान हुआ आसमान

स्वतंत्रता दिवस पर रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन डोईवाला/ब्यूरो। पूरे क्षेत्र में स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *