Breaking News
Home / Breaking News / कत्थक नृत्य में वेदांती ने बढ़ाया उत्तराखंड का मान

कत्थक नृत्य में वेदांती ने बढ़ाया उत्तराखंड का मान

हल्द्वानी। राष्ट्रीय सांस्कृतिक उत्सव विविधता में एकता में उत्तराखंड का प्रतिनिधत्व वेदांती ने
जोशी ने किया। शास्त्रीय नृत्य शैली कत्थक में नैनीताल जिले को देश के मानचित्र में स्थान दिलवाने की ओर अग्रसर वेदांती जोशी हल्द्वानी के सेंट थेरेसा स्कूल में कक्षा 9वीं की छात्रा है ।
विगत 27 दिसम्बर से 2 जनवरी तक सांस्कृतिक स्त्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र (संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार) द्वारा राष्ट्रीय सांस्कृतिक उत्सव विविधता में एकता का आयोजन दिल्ली में किया गया जिसमें सीसीआरटी से राष्ट्रीय छात्रवृति प्राप्त देशभर के 1000 छात्रवृत्तिधारकों में से 98 का चयन किया गया जोकि कला की अलग-अलग विधाओं से संबंधित थे। उत्तराखड से मात्र वेदांती का चयन हुआ। वेदान्ती की कत्थक नृत्य की एकल व सामूहिक प्रस्तुति हुई। वेदांती जोशी गुरु शिष्य परंपरा के अंतर्गत कत्थक नृत्य की शिक्षा प्रसिद्ध कत्थक नृत्यांगना डॉ. दीपा जोशी से ले रही है जो उनकी माता भी हंै। वेदांती ने 4 वर्ष की आयु से कत्थक की विधिवत शिक्षा लेना प्रारम्भ किया। डॉ. दीपा ने बताया वेदांती की कत्थक के प्रति जिज्ञासा को देखते हुए उन्होंने उसे सिखाना शुरू किया। वेदांती ने 7 वर्ष की आयु में रामनगर में आयोजित भातखण्डे जयंती पर प्रथम प्रस्तुति दी। उसके बाद प्रस्तुतियों व प्रतियोगिताओ में प्रतिभाग करने का क्रम चल निकला। वेदान्ती ने रामनगर, नैनीताल, लखनऊ, दिल्ली, अल्मोड़ा में आयोजित उदयशंकर संगीत समारोह में भी कत्थक नृत्य की प्रस्तुति दी है। वेदांती को कत्थक नृत्य में उत्तराखंड की बेटियां सम्मान पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा प्रदान किया गया। वेदांती शास्त्रीय गायन की तालीम जगमोहन परगार्इं से ले रही है।
राष्ट्रीय सांस्कृतिक उत्सव के विषय में वेदांती बताती है कि इस उत्सव में हमें 21 राज्यों से आए 98 बाल कलाकारों से अपने अनुभव साझा करने का अवसर मिला। कहा हमें पढ़ाई के साथ-साथ अपनी कला में दक्षता हासिल कर देश का मान बढ़ाना है। वेदान्ती को वर्ष 2014-15 में कत्थक नृत्य की शिक्षा के लिए संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सांस्कृतिक स्त्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र द्वारा राष्ट्रीय छात्रवृति प्रदान की गई थी। उन्हें गौरीशंकर कांडपाल, डॉ. कमल पांडेय उप निदेशक उच्च शिक्षा, कलाकृति अकादमी की निदेशक किरन पंत, जगमोहन परगाईं, सुशीला हर्बोला, मीरा जोशी आदि ने बधाई देते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है।

 

About saket aggarwal

Check Also

पंतनगर:कुमाऊं राइफल्स ने पंतनगर विश्वविद्यालय के साथ मनाया शेरॉन दिवस

पंतनगर। पंतनगर विश्वविद्यालय के गांधी हाल में आज अपराह्न में कुमाऊं राइफल्स ने फिलिस्तीन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *