Home / Breaking News / हल्द्वानी : व्यापारी के दो हत्यारे गिरफ्तार

हल्द्वानी : व्यापारी के दो हत्यारे गिरफ्तार

सरिया व चापड़ से वार कर दिया वारदात को अंजाम, पैसों के लेन-देन के चलते हुई विकास की हत्या
हल्द्वानी। शहर में तीन दिन पूर्व व्यापारी की हत्या के मामले में पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर इस मामले का पटाक्षेप किया। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।
बता दें कि रविवार की शाम को चौधरी कॉलोनी बरेली रोड निवासी व्यवसायी विकास अग्रवाल मुखानी स्थित अपनी दुकान से रहस्यमय ढंग से गायब हो गये थे। जब काफी देर तक विकास नहीं पहुंचा तो परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की और इसकी सूचना पुलिस को भी दी। पुलिस ने व्यवसायी के गुम होने के बाद उसकी खोजबीन शुरू कर दी। सोमवार की सुबह व्यवसायी का शव कमलुवागंाजा के जंगल में खून में लथपथ मिला। विकास की हत्या के खुलासे को लेकर एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने एसओजी व पुलिस की दो टीमे लगाई थी। आखिरकार पुलिस को इसमें सफलता भी हाथ लगी। विकास की हत्या का खुलासा करते हुए एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि विकास की हत्या एक लाख उन्नीस हजार के कारण हुयी है। जिसका मास्टर माइंड तहसीम पुत्र अली मोहम्मद निवासी मलिक का बगीचा बनभूलपुरा है। एसएसपी ने बताया कि आरोपी बिल्डिंगों में बिजली लाइनों की फिटिंग का कार्य करता है और वह विकास के वहां से इलेक्ट्रिक का सामान उधार ले गया था। जब आरोपी के ऊपर लाखों रुपए की उधारी हो गयी तो विकास ने उससे अपना पैसा मांगा। आरोपी उधार के पैसे देने के बारे में टालमटोल करता था। विकास ने ज्यादा ही सख्ती की तो आरोपी ने अपनी चाची का चेक चुराकर उसमें उधारी की रकम भरकर दे दिया। तभी से ही आरोपी को भय होने लगा था कि विकास कहीं उसकी चाची का चेक खाते में न लगा दे और उसकी चोरी का पर्दाफाश न हो जाए। इसी भय के चलते आरोपी ने विकास को ठिकाने लगाने का ताना बाना बुनना शुरू कर दिया। इसके लिए उसने अपने साथी गुलफाम खान पुत्र भूरा खान निवासी काशीपुर व हाल निवासी लाइन नं. 17 कमरुद्दीन के मकान में किराए पर रहने वाले के साथ षडयंत्र रच दिया। एसपी ने बताया कि आरोपी तहसीम ने अपने फोन से विकास को फोन किया और कहा कि कालाढूंगी रोड स्थित सेंट्रल हॉस्पिटल पर आकर अपने उधारी के पैसे ले जाओ। यह सुनकर विकास अपनी स्कूटी पर सवार होकर सेंट्रल हॉस्पिटल पहुंच गया। जहां से दोनों आरोपी अपनी बाइक पर सवार होकर साइड पर चलने की बात कहने लगे। विकास भी उनके पीछे-पीछे चलने लगा। वहीं जंगल में एकांत जगह पाकर गुलफाम ने विकास के सिर पर मौका पाकर सरिये से प्रहार कर दिया जिससे वह जमीन पर गिर गया और चिल्लाने लगा। इस पर तहसीम ने चापड़ से उसके सिर व गर्दन पर कई वार कर दिए। साथ ही अपने जूते के फीते से विकास का गला भी घोंट दिया। विकास को छोड़कर उसकी स्कूटी लेकर दोनों आरोपी फरार हो गये जहां उन्होंने स्कूटी जंगल में छुपा दी। साथ ही सरिया व चापड़ भी झाडिय़ों में फेंक गये। एसएसपी ने बताया कि आज मुखबिर ने सूचना दी कि हत्यारोपी यहां से भागने की फिराक में हैं। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए उजाला नगर में छापा मारकर दोनों आरोपियों को दबोच लिया। जिनकी निशानदेही पर मृतक का मोबाइल, स्कूटी, हत्या में प्रयुक्त सरिया, चापड़ व डीएल, वोटर आईडी कार्ड व दुकान के तालों की चाबियां बरामद की हैं। उन्होंने विकास की हत्या करने की बात कबूली है।
एसएसपी ने किया पुलिस टीम को पुरस्कृत
सफलता पाने वाली टीम में कोतवाल केआर पांडेय, एसएसआई मनोहर दसौनी, एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, मुखानी थाना प्रभारी कमाल हसन, बनभूलपुरा थाना प्रभारी दिनेशनाथ महंत, एसआई कैलाश सिंह नेगी, एसआई विरेंद्र चंद्र, एएसआई सतेंद्र गंगोला, कांस्टेबल कुंदन कठायत, रियाज अख्तर, दिनेश शर्मा, खड़क सिंह, जर्नादन भट्ट, प्रमोद यादव आदि शामिल रहे। टीम को एसएसपी की ओर से ढाई हजार रुपए ईनाम देने की घोषणा की गयी।
लालच ने पहुंचाया सलाखों के पीछे
कहा जाता है लालच बुरी बला होती है। इसी लालच का शिकार गुलफाम भी हो गया। जब तहसीम ने उसे तीस हजार रुपए देने की बात कही तो वह भी विकास की हत्या में शामिल हो गया। इस लालच ने उसे जेल की सलाखों के पीछे भिजवा दिया। गुलफाम का कहना है कि उसे जुआ खेलने की आदत है इससे पूर्व व मेडिकल की दुकान पर अठारह सौ रुपए माहवार पर काम करता था। उसकी पहचान तहसीम से जुआ खेलने के दौरान हुयी थी।
हत्या के बाद दुकान से चेक भी निकाल ले गये हत्यारे
विकास की हत्या करने के बाद गुलफाम व तहसीम मुखानी स्थित मृतक की दुकान पर पहुंचे। जहां उन्होंने विकास की चाबी से दुकान का लॉक खोला उसके गल्ले से अपना चेक निकाला। चेक निकाल कर हत्यारोपियों ने चेक को फाड़ दिया। इन दोनों की हिम्मत की दाद देनी होगी कि विकास की गुमशुदगी के बाद परिजन उसकी दुकान पर आ सकते थे।

About saket aggarwal

Check Also

तीन माह में भी पुलिस के हाथ खाली

किच्छा। 3 माह पूर्व ग्राम छिनकी में पुलिया के नीचे मिले युवक की हत्या का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *