Home / Uttatakhand Districts / Tehri Garhwal / मैड मल्ला में गहराया पेयजल संकट

मैड मल्ला में गहराया पेयजल संकट

पानी के लिए तीन किमी की दूरी तय कर रहे ग्रामणी
थत्यूड़ (टिहरी)। धनोल्टी विधानसभा के विकासखंड जौनपुर के अंतर्गत दशजुला पट्टी का मैड मल्ला गांव इन दिनों पेयजल के संकट से जूझ रहा है। ग्रामीण 2 से 3 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करके, दूसरे गांव या पानी के प्राकृतिक स्रोतों से पानी ढोकर लाने को मजबूर हैं।
ग्रामीणों के अनुसार 8 साल पहले गांव की पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी। तभी से गांव में पानी का संकट बना है। अन्य मौसम में तो ग्रामीणों को नजदीकी स्रोतों से पानी मिल जाता है, लेकिन गर्मी आते ही आसपास के स्रोत भी सूख जाते हैं और गांव वालों को पानी के लिए तीन किमी तक की दूरी नापनी पड़ती है। गांव कंडाल गांव से पेयजल पैदल चलकर लाना पडता हैं। ग्रामीणों ने बताया कि गांव मे पशुओं की संख्या भी अधिक है और मवेशियों के लिए भी उन्हें खुद की पानी ढोकर लाना पड़ रहा है। गांव वालो का कहना है कि कई बार शासन-प्रशाशन को इस बारे में बताया जा चुका है फिर भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। गांव में लोग पेयजल संकट के कारण दिन भर अपने व पशुओं के लिए दूर से पैदल चलकर पानी ला रहे हैं और इस वजह से उनके अन्य कार्य भी नहीं हो पा रहे हैं। कई बार लिखित व मौखिक रूप से जिला अधिकारी टिहरी व सरकार को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन समस्या जस की तस बनी है। पूर्व प्रधान सुरेन्द्र नौटियाल, हरीश नौटियाल, गोकुल नौटियाल, नरेश नौटियाल व जयेन्द्र नौटियाल आदि ग्रामीणों ने पेयजल समस्या दूर करने के लिए मैड मल्ला गांव के लिए पेयजल योजना बनाने की मांग की है।

About madan lakhera

Check Also

टीएचडीसी कोटेश्वर ने जगाई स्वच्छता की अलख

स्वच्छता पखवाड़ा में विभिन्न कार्यक्रमों से दिया सफाई का संदेश स्वच्छता के लिए मिलकर करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *