Breaking News
Home / Breaking News / ऋषिकेश: योग महोत्सव का समापन

ऋषिकेश: योग महोत्सव का समापन

ऋषिकेश। विश्व विख्यात अन्तर्राष्टï्रीय योग महोत्सव के सातवें दिन पूर्णाहुति के पावन अवसर पर परमार्थ निकेतन में विश्व प्रसिद्ध योग गुरु स्वामी रामदेव महाराज, स्वामी चिदानन्द सरस्वती, भानुजी (श्री श्री रविशंकर जी की बहन), मुम्बई के योग इंस्टीट्यूट की प्रमुख योग गुरु एवं लेखक हंसा जयदेव योगेन्द्र, डॉ. साध्वी भगवती सरस्वती, ब्राजील से आये प्रेम बाबा, दक्षिण अमेरिका से आये स्वामी परमाद्वैति, लद्दाख से आये बौद्ध गुरु भिक्खु संघसेना, अध्यात्म जगत के शिखरस्थ दिग्गज एवं प्रसिद्ध जीव वैज्ञानिक डॉ. ब्रूस लिप्टन, प्रसिद्ध सूफी गायक कैलास खेर, कैलासा बैंड के सदस्य तथा अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज और साध्वी भगवती सरस्वती को परमार्थ निकेतन अन्तर्राष्टï्रीय योग महोत्सव में 70 घंटे तक योग कक्षाओं की मेजबानी करने के लिये विश्व रिकार्ड पुरस्कार सम्मानित किया गया। 1 से 7 मार्च तक योग की कई विधाओं का अभ्यास योगाचार्यों द्वारा कराया गया। उन्होंने माना कि यह विश्व का सबसे बड़ा योगियों का परिवार है जहां पर विभिन्न संस्कृतियों, रंग, धर्म, भाषा के योगी एकजुट होकर वैश्विक चेतना का विस्तार करते हंै। इस पुरस्कार को देने के लिये ब्रिटेन से वीरेेंद्र शर्मा, संसद सदस्य इंग्लैंड और डॉ. दिवाकर सुकुल अध्यक्ष, वल्र्ड बुक ऑफ रिकॉड्र्स, लंदन और अन्तर्राष्टï्रीय परिदृश्य के अन्य गणमान्य व्यक्ति पधारे हैं। उन्होंने मां गंगा के तट पर पूज्य स्वामी जी और साध्वी जी को विश्वस्तर के विशेष पुरस्कार से नवाजा। इस दौरान विशिष्ट अथितियों, योगाचार्यों एवं विश्व के 96 देशों से आये 2000 से अधिक योग जिज्ञासुओं ने अन्तर्राष्टï्रीय योग महोत्सव की पूर्णाहुति के अवसर पर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प ग्रहण किया।
इस विश्व विख्यात कार्यक्रम की मेजबानी परमार्थ निकेतन द्वारा सन 1999 से निरन्तर की जा रही है। इस बार अन्तर्राष्टï्रीय योग महापर्व में सम्मिलित होने के लिये सम्पूर्ण विश्व के लगभग 94 देशों के 1500 से अधिक प्रतिभागियों ने सहभाग किया हैै।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी:परिवार को सौंपा नेत्रदान का सर्टिफिकेट

हल्द्वानी। समाजसेविका कांता विनायक के अथक प्रयासों से अब तक 65 नेत्रदान हो चुके हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *