Home / Breaking News / अदालत ने चर्चित उमा कंसल हत्याकांड के आरोपी संतोष को दोषी ठहराया

अदालत ने चर्चित उमा कंसल हत्याकांड के आरोपी संतोष को दोषी ठहराया

संवाददाता, नैनीताल। जिला एवं सत्र न्यायाधीश नैनीताल कुमकुम रानी की अदालत ने हल्द्वानी के चर्चित उमा कंसल हत्याकांड के आरोपी संतोष आर्या को दोषी ठहराया है। जिसे 15 जनवरी को सजा सुनाई जायेगी। आरोपी वर्तमान में जेल में बंद है 15 जनवरी को उसे अदालत में पेश किया जायेगा।
अभियोजन पक्ष के अनुसार दो सितम्बर 2016 को हल्द्वानी हीरानगर निवासी दवा व्यवसाई पंकज कंसल पुत्र भूप्रकाश कंसल की पत्नी उमा कंसल की उन्हीं के नौकर संतोष कुमार आर्य निवासी बिहाल गांव नथुवाखान ने हत्या कर दी थी। घटना की रिपोर्ट उसी दिन हल्द्वानी थाने में पंकज कंसल ने दर्ज कराई। जिसमें कहा गया कि दो सितम्बर 2016 को वह व उसका पुत्र अपने दुकान में चले गये थे। घर में पत्नी उमा घरेलू नौकर संतोष व नौकरानी रीना थी। प्रात: 10.30 बजे रीना ने पंकज को फोन पर बताया कि नौकर संतोष उस पर जानलेवा हमला कर रहा है इस सूचना पर पंकज कंसल घर पहुंचा जहां उसकी पत्नी लहूलुहान पड़ी थी। जबकि रीना बाथरूम में छुपी पड़ी थी। आरोपी घर की छत कूदकर भाग गया। इलाज के दौरान उमा कंसल ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने नौकर संतोष के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। चार सितम्बर को उसे वनभूलपुरा स्थित एक बारात घर से गिरफ्तार कर लिया। मामले की सुनवाई के दौरान जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील शर्मा ने कोर्ट में 11 गवाह पेश कर मालकिन की हत्या करने और नौकरानी पर जानलेवा हमला करने के साक्ष्य प्रस्तुत किये। इसके अलावा वादी के मुकदमें की पैरवी के लिये मनीष जोशी को निजी अधिवक्ता मनोनीत किया था। जबकि बचाव पक्ष की ओर से वादमित्र गोपाल कपकोटी ने पैरवी की। उन्होंने आरोपी को मानसिक रोगी बताते हुये उसकी सजा माफ करने का अनुरोध किया। जिस पर अदालत ने सुशीला तिवारी अस्पताल के मनोरोग विशेषज्ञ डा. एससी गोदियाल से आरोपी का मानसिक परीक्षण कराया जिसमें आरोपी के मानसिक रोगी न होने की पुष्टि हुई। इन तथ्यों के आधार पर जिला सत्र न्यायाधीश ने संतोष आर्या को मालकिन की हत्या करने व नौकरानी पर जानलेवा हमला करने का दोषी ठहराया।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर:स्थायी लोक अदालत में निपटेंगे एक करोड़ तक के मामले

रुद्रपुर। विधिक सेवा प्राधिकरण 1987 की धारा 22बी के अंतर्गत राज्य सरकार ने चार जिलों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *